वर्षों से बंद मंडी की कलेक्टर द्वारा हुई पुनः शुरूआत 1984 में निर्मित मंडी 2004 से थी बन्द
January 20th, 2020 | Post by :- | 158 Views

कोण्डागांव -कलेक्टर द्वारा 19 जनवरी को कोण्डागांव मुख्यालय के बाजार पारा स्थित मंडी प्रांगण में क्रय-विक्रय की शुरुआत की गई। इस मंडी में वर्ष 2004 से ही क्रय विक्रय का कार्य बंद पड़ा हुआ था।इस अवसर पर कलेक्टर ने कहा कि वर्ष 1984 में एक बहुत ही अच्छी विकासशील सोच के इस मंडी की शुरुआत हुई थी जो 2004 से बन्द थी परंतु इस मंडी की पुनः शुरुआत से क्षेत्र के ग्रामीण एवं किसान बंधुओं को अपनी फसलों के उचित दाम पर उनके निकटतम स्थल पर विक्रय कर सकेंगे। इस अवसर पर उपसंचालक कृषि बी.एस.बघेल, मंडी सचिव यशवंत ठाकुर सहित कृषि उपज मंडी व्यापारी उपस्थित थे।
2004 से बंद थी मंडी
ज्ञात हो कि वर्ष 1984 में इस क्षेत्र में अवसरों की प्रचुरता को देखते हुए इस मंडी की शुरुआत हुई थी परंतु वर्ष 2004 में आस पास क्षेत्रों के अतिवादी ताकतों से निपटने के लिए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के ठहराव के लिए व्यवस्था की गई तब से अब तक यह मंडी बन्द रही परंतु जिले के कृषि विभाग एवं जिला प्रशासन के संयुक्त प्रयास एवं कलेक्टर द्वारा प्रदर्शित प्रतिबद्धता का ही परिणाम है कि वर्षों से बंद इस मंडी में पुनः क्रय-विक्रय एवं नीलामी का कार्य प्रारंभ हो सका है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।