मेवात जिले के 3 लाख 400 बच्चे को पोलियो की दवा गटकेगें : डा.  वसंत दुबे
January 19th, 2020 | Post by :- | 88 Views
नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।  19 जनवरी से शुरू हुए पल्स पोलियो अभियान के तहत मांडीखेड़ा गांव के मुफ़्ती रफीक अहमद ने बच्चे को पोलियो की दवा पिलाकर पोलियो बूथ का उट्घाटन किया गया। यह अभियान 19 जनवरी से 21 जनवरी तक चलेगा।  इस अभियान  में जीरो से पांच साल तक के बच्चों  को पोलिया की दवा पिलाई जा रही है।
जिला टास्क फोर्स के नोडल अधिकारी डा.  वसंत दुबे के मुताबिक  इस अभियान के दौरान स्लम ऐरिया में पूरा ध्यान दिया जा रहा है । इसके अलावा ईंट भट्टों पर भी बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई जा रही है । उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्र व ग्रामीण क्षेत्र में आशा व आगंवाडी वर्कस  को विशेष हिदायत दी गई है । उन्होंने कहा कि आंगनवाड़ी केंद्रों पर आने वाले प्रत्येक बच्चे को पोलियो की दवा पिलाई जाए।

  जिला टास्क फोर्स के नोडल अधिकारी डा.  वसंत दुबे ने बताया कि अभियान के दौरान जिले में 0 से पांच साल तक के 3 लाख 400  बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने का लक्ष्य रखा गया है। इस अभिमान के तहत जिले के एक लाख 81 हजार 768 घरों को कवर किया जाएगा। उन्होंने बताया कि दवा पिलाने के लिए जिलेभर में 1103 बूथ बनाए गए हैं। इसके अलावा 39 ट्रांजिट टीम, 57 मोबाईल टीम बनाई गई हैं। अभियान के दौरान 248 सुपरवाईजर नियुक्त किए गए हैं। इस प्रकार से अभियान में स्वास्थ्य विभाग,आगंवाडी सहित कुल 4936 कर्मचारी तैनात रहेंगे तथा इस अभियान के दौरान निर्धारित लक्ष्य को पूरा करेंने के लिए 0 से पांच साल तक के सभी बच्चों को पोलियो की ड्रॉप पिलाई का कार्य करेंगे ताकि कोई भी बच्चा पोलियो कि दवा से छूटने न पाये। उन्होंने बताया कि अभियान का नियमित रूप से निरीक्षण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 19 जनवरी को बूथों पर पोलियों की दबाई पिलाई जाएगी तथा 20  व 21  जनवरी  को घर-घर जाकर जन्म से 05 वर्ष तक के बच्चों को पोलियों की दबाई पिलाई जाएगी। उन्होंने बताया कि हमारा लक्ष्य है कि जिले में एक भी बच्चा पोलियों की दो बूंद से नही छूटेगा।

मेवात जिले की ताजा खबर  वीडियो में भी देखें  नीचे दिए गए लिंक पर किलिक  कर देखें  ,चेंनल को सब्सक्राइब जरूर करें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।