पुन्हाना मोबाइल कोर्ट का हुआ समापन , करीब 12 वर्ष का रहा कार्यकाल
January 19th, 2020 | Post by :- | 60 Views
नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।  देश में केसों की संख्या अधिक होने तथा सस्ता , शुलभ न्याय देने के लिए करीब 13 वर्ष पहले मेवात जिले की अनाज मंडी पुन्हाना की धरती से शुरू की गई मोबाइल कोर्ट का अब पूरी तरह समापन हो गया है। घर तक न्याय देने के लिए न्यायपालिका ने इस कदम को उठाया था और देश की पहली मोबाइल अदालत इस क्षेत्र का नाम अपने इतिहास से जोड़कर राष्ट्रीय – अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर इलाके की पहचान बना गई। देश के चीफ जस्टिस न्यायमूर्ति के जी बालाकृष्णन ने मोबाइल कोर्ट की शुरुआत गत 7 अगस्त 2006 को की थी।
आपको बता दें कि एक लग्जरी बस में मोबाइल कोर्ट लगता था। जज साहब के अलावा उनका स्टाफ भी इसी बस में सवार होकर चार स्थानों बिछोर , पुन्हाना , लुहिंगाकलां , शिकरावा में गांव में अदालत लगती थी। हर सप्ताह कोर्ट चलकर लोगों के बीच जाती थी। कोर्ट को इन स्थानों पर दिक्कत नहीं थी , लेकिन वकीलों को फोटोस्टेट , टाइपिंग इत्यादि की दुकानें इन स्थानों पर नहीं होने से खासी दिक्कत होती थी। समय बदलता गया तो मोबाइल कोर्ट का दायरा भी कम होता चला गया। चार स्थानों से महज एक स्थान तक मोबाइल कोर्ट सिमट गई। कुछ साल पुन्हाना के किसान रेस्ट हाउस में तो कुछ साल पिनगवां स्थित किसान रेस्ट हाउस में अदालत लगाई गई। जगह की कमी अदालत को खलती रही। गत 2018 में मोबाइल कोर्ट का नाम बदलकर कैम्प कोर्ट किया गया , लेकिन पिनगवां कस्बे के किसान रेस्ट हाउस में फिरोजपुर झिरका उपमंडल के बीच का स्थान होने की वजह से अदालत लगती रही। कैम्प कोर्ट गत 17 जनवरी तक चलता रहा , लेकिन गत 18 जनवरी को इसे अस्थाई अदालत पुन्हाना शिफ्ट करने के बाद यहां से मोबाइल कोर्ट का समापन पूरी तरह हो गया। मोबाइल कोर्ट शुरूआती दौर में अपने मकसद में पूरी तरह कामयाब हुई , लेकिन बाद में इसका दायरा कम होता चला गया। भले ही मोबाइल कोर्ट पूरी तरह बंद हो गया हो , लेकिन जिले के लोग इसको कभी नहीं भुला पाएंगे। फिरोजपुर झिरका बार एशोसिएशन के पूर्व प्रधान मुमताज खान एवं पुन्हाना बार एशोसिएशन के प्रधान जावेद अहमद एडवोकेट ने पत्रकार से खास बातचीत में कहा कि मोबाइल कोर्ट की शुरुआत करने उस समय के न्यायमूर्ति चीफ जस्टिस सुप्रीमकोर्ट के जी बालाकृष्णन , कानून मंत्री हंसराज भारद्वाज , पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस , मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा सहित राजनीति और न्यायपालिका से जुड़े बड़े लोग आये थे। पुन्हाना अनाज मंडी में विशाल कार्यक्रम में इलाके के लोगों के लिए मोबाइल कोर्ट की सौगात इलाके की आर्थिक स्तिथि एवं केसों की संख्या अधिक होने के कारण मिली थी। न्यायपालिका की इस पहल से लोगों को त्वरित न्याय भी मिला। अब पुन्हाना को आगामी 31 मार्च से पहले – पहले दो स्थाई अदालत मिल जाएंगी। जिसका पुन्हाना उपमंडल के पिनगवां , पुन्हाना , बिछोर थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सैकड़ों गांव के लोगों को लाभ मिलेगा। यहां यह बताना जरुरी है कि जिस समय मोबाइल कोर्ट इस इलाके के लोगों को मिला था , उस समय पुन्हाना उपमंडल नहीं बना था और पुन्हाना खंड , फिरोजपुर झिरका उपमण्डल का हिस्सा होता था। न्यायपालिका अभी भी क्षेत्र के लोगों को त्वरित , सुलभ , सस्ता न्याय दिलाने की दिशा में जरुरी कदम उठा रही है।

मेवात जिले की ताजा खबर  वीडियो में भी देखें  नीचे दिए गए लिंक पर किलिक  कर देखें  ,चेंनल को सब्सक्राइब जरूर करें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।