शालाओं में चपरासी व कमरों का अभाव
August 28th, 2019 | Post by :- | 224 Views
वजीरपुर,( महेंद्र शर्मा) राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय रायपुर में कमरा व चपरासी का अभाव रहने से बालकों व अध्यापकों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। वही बालकों को खुले में बिना दरी पट्टी के मिट्टी में बैठे नजर आए।
इधर प्रधानाचार्य महेश चन्द गुप्ता ने बताया कि हमारे पास आठ कमरे हैं। कक्षाएं बारह होने से कमरों के अभाव में बाहर व पुस्तकालय कक्ष में बालकों को बैठाना पड़ता है।
एक ओर सरकार सरकारी स्कूलों को बेहतर ढंग से चलाने के लिए अनेक योजनाएं चलाकर बालकों को सरकारी विद्यालयों में प्रवेश के लिए प्रेरित करती है। वही बालकों से प्राइमरी स्कूलों में सफाई व अन्य कराया जाता है। जिनको बैठने की उचित व्यवस्था नहीं मिलती। वही अधिकांश शालाओं में मीनू के अनुसार पोषाहार नहीं बनता है। बालकों को सरकारी योजना के तहत मिलने वाला दूध भी गुणवत्ता वाला नहीं मिल पाता है। उच्चाधिकारियों की लापरवाही के चलते एक दो तक कोई जांच नहीं होने से पोषाहार प्रभारी व संस्था प्रधान अनुपस्थित बालकों का भी पोषाहार भर कर उपस्थिति दर्ज की जाने की लापरवाही भी होने की आशंका है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।