सेंट विवेकानंद मिलेनियम स्कूल एच.एम.टी. पिंजौर में झमाझम मस्ती के साथ बारहवीं के छात्रों को दी रंगारंग विदाई।
January 16th, 2020 | Post by :- | 89 Views

कालका (चन्द्रकान्त शर्मा)

सेंट विवेकानंद मिलेनियम स्कूल एच.एम.टी. पिंजौर में ग्यारहवीं के छात्रों ने अपने सीनियर्स को न्यू सीज़न्स रेस्ट्रारेंट में भावभीनी विदाई दी। कार्यक्रम का शुभारंभ स्वागत गीत से हुआ । तत्पश्चात विद्यालय की परंपरा अनुसार बारहवीं कक्षा को कनक – स्वर्णिम आभा नाम दिया गया और कनक बैच ने केक काटकर आज के दिन को यादगार बनाया और इन पलों में अपनी रंगारंग प्रस्तुतियों से मिठास घोली। जूनियर्स ने अपने सभी सीनियर्स को आधुनिक धुनों पर खूब झुमाया। उनके व्यक्तित्व को बढाते हुए ग्यारहवीं के छात्रों ने अपने सीनीयर को विभिन्न टाइटल्स भी दिए। इसी प्रकार बारहवीं के छात्रों ने भी अपने सभी अध्यापकों को अपना स्नेह कार्ड देकर दिखाया। मखमली पौशाकों में सजे बारहवीं के छात्रों ने रैंप वाक में अपनी-अपनी छवि को खूब दर्शाया। जसदीप सयान को मिस्टर मिलेनियम और सिमरन गरचा को मिस मिलेनियम से नवाजा गया। उप विजेता का स्थान क्रमशः सागर राठी व निहारिका खोसला ने प्राप्त किया। सुनाली को स्टार आइकन आफ द ईवनिंग और केशव सैणी को मिस्टर डेक्टरस व महताबजीत कौर को मिस डेक्टरस घोषित किया गया और राशी शर्मा को प्रिन्सिपल अवार्ड से सम्मानित किया गया। गुंजन को मिस बेनोवेलेंट और इशिता को मिस सेल्युटरी अवार्ड से नवाजा गया। कनक बैच ने  जिज्ञासा से भरी रोचक खेल का भी लुत्फ लिया। इस समय सभी के मुख पर आत्मविश्वास की आभा झलक रही थी। वे सभी स्वयं को सामाजिक परिपाटी में सुव्यवस्थित करने के अनुभव एकत्रित कर रहे थे। मुख्य छात्र जसदीप सयान ने भाव – विभोर शब्दों में अपने अध्यापकों के प्रति आभार प्रकट किया। उनसे सीखी हुई बातें हम सभी बच्चों को हमेशा रोशनी देती रहेंगी। इसी प्रकार साक्षी सागर की कविता के खट्टे – मीठे अनुभवों ने सभी बच्चों को बीते हुए समय की यादें ताजा करवा दी।
प्राचार्य श्री पीयूष पुंज जी ने कनक बैच को बधाई देते हुए सदैव अनुशासित जीवन जीने की प्रेरणा दी। स्कूल निदेशिका श्रीमति कमल राय जी ने सभी विद्यार्थियों को भविष्य में सत्यपथ पर चलकर सफल होने की गूढ सीख दी और बोर्ड कक्षाओं में बेहतरीन प्रदर्शन की कामना की। अन्त में सभी अध्यापकों ने छात्रों को सफल भविष्य के लिए आशीर्वाद दिया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।