नगर पालिका प्रधान की कुर्सी का विवाद, जुबानी जंग, सामाजिक बहिष्कार के बाद शाह मात खेल का अखाड़ा बना।
January 15th, 2020 | Post by :- | 195 Views

अंबाला , बराड़ा ( गुरप्रीत सिंह मुल्तानी )
भारत दर्शन यात्रा से लौटे बागी पार्षद करने लगे घर वापसी।
नगर पालिका प्रधान बराड़ा की कुर्सी को लेकर भारत यात्रा पर गए बागी पार्षदों के वापस पहुंचने से पार्षदों के टूटने की संभावनाएं बढ़ गई है। जिसके चलते जहां एक और बागी नेता रिचा पाहवा के सामने सभी को एकजुट रखने की चुनौती बनी हुई है वहीं दूसरी ओर रमा खेत्रपाल के समर्थक नाराज बताए जा रहे पार्षदों से संपर्क साधने में जुट गए हैं। अब विवाद जुबानी जंग, सामाजिक बहिष्कार के बाद एक दूसरे के खेमे में दाम-साम, दंड-भेद से सेंध लगाकर शह-मात का खेल आरंभ हो गया है। सूत्रों की माने तो अधिकांश पार्षद प्रायश्चित करते हुए घर वापसी का ऐलान कर चुके हैं। रमा खेत्रपाल के समर्थकों का दावा है कि भाजपा पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के आशीर्वाद से उनको प्रधान पद की जिम्मेवारी सौंपी गई थी जिससे उन्होंने लगभग 2 साल के कार्यकाल में भाजपा पार्टी के आदर्श सिद्धांत सबका-साथ, सबका-विकास, सबका -विश्वास के साथ भाजपा के सच्चे सिपाही के रूप में निभाया है। एक पुराने कांग्रेसी परिवार द्वारा पूर्व में कांग्रेस पार्टी का खेल बिगाड़ कर विश्वासघात करके अब भाजपा पार्टी की नकली नकाब ओढ़कर भाजपा पार्टी में विघटन का घिनौना खेल खेलने का काम कर रहे हैं। यह पार्टी तोड़ने वाले कांग्रेसी मानसिकता वाले लोग कभी भी अपने मंसूबे में कामयाब नहीं होंगे। सभी पार्षद मेरे परिवार के समान हैं, अधिकांश पार्षद भ्रम से उबर चुके हैं, वास्तविकता को समझते हुए घर वापसी कर चुके हैं। हमारे पास मैजिक नंबर मौजूद है। आगामी 31 जनवरी को दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा। अविश्वास प्रस्ताव का गिरना तय है।
बता दें कि गत माह 11 पार्षदों रिचा पाहवा, शमशेर सिंह, अमित कुमार, सुरजीत सिंह, अभिलाषा, योगिता रानी, अंजू रानी, सीमा देवी, मनीष कुमार, जसविंदर पाल सिंह व दीपक बाजवा ने अविश्वास प्रस्ताव पर बैठक बुलाने का आवेदन उपायुक्त अंबाला अशोक शर्मा को देकर शीघ्र विशेष बैठक का अनुरोध किया। जिससे उपायुक्त ने आगामी कार्यवाही करने के लिए आवेदन एसडीएम बराड़ा को प्रेषित कर दिया। तत्कालीन एसडीएम भारत भूषण कौशिक ने नगरपालिका अधिनियम के अंतर्गत 3 जनवरी 2020 को बैठक का नोटिस जारी कर दिया। परंतु इस बीच एसडीएम के आकस्मिक स्थानांतरण के चलते 3 जनवरी की निर्धारित बैठक नहीं हो सकी। एसडीएम गिरीश कुमार ने चार्ज संभालने के बाद नगर पालिका की बैठक 24 जनवरी 2020 की तिथि निर्धारित कर सभी सदस्यों को सूचित किया। 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के कारण पुलिस फोर्स उपलब्ध न होने के कारण यह तिथि बढ़ाकर 31 जनवरी 2020 कर दी गई।
हमारे पास मैजिक नंबर मौजूद है, मेरे पार्षदों में कोई मतभेद नहीं है। सभी पार्षद मेरे परिवार का हिस्सा है। 31 जनवरी को सब स्पष्ट हो जाएगा।:
रमा खेत्रपाल नगर पालिका प्रधान बराड़ा।
हम सभी पार्षद एकजुट हैं। भाजपा पार्टी के सच्चे सिपाही की तरह प्रधान रमा खेत्रपाल के साथ खड़े हैं। कांग्रेस पार्टी के गुर्गे अपनी चाल में सफल नहीं होंगे।: संदीप अरोड़ा पार्षद नगर पालिका बराड़ा

कुछ स्वार्थी लोगों ने पार्षदों को नौकरी, धन, बल से बरगलाने की असफल कोशिश की। परंतु सभी पार्षद उनकी षड्यंत्रकारी नीतियों से परिचित है। सभी पार्षद उनके पार्टी तोड़ने की नीति को पहचान कर भाजपा के समर्थन में एकजुट हैं। केवल 31 जनवरी का इंतजार है।: बलजिंद्र सिंह पार्षद नगर पालिका बराड़ा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।