निरोगी राजस्थान को जन आन्दोलन बनाने ग्राम पंचायतों पर लगेंगी स्वास्थ्य चैपालें, जिला कलेक्टर ने ली जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक।
January 15th, 2020 | Post by :- | 93 Views

बीकानेर,(मनीष)। राज्य सरकार के फ्लैगशिप कार्यक्रम निरोगी राजस्थान अभियान को जन आन्दोलन बनाने हेतु जल्द ही प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर पर स्वास्थ्य चैपालों का आयोजन किया जाएगा, जिसमे ना केवल आमजन को स्वस्थ रहने के गुर सिखाए जाएंगे बल्कि विभिन्न बिमरियों की जांच सुविधा भी दी जाएगी। जिला कलेक्टर कुमार पाल गौतम ने मंगलवार को जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में स्वास्थ्य चैपाल नवाचार करने के निर्देश   सीएमएचओ डॉ बी.एल. मीणा को दिए। उन्होंने माना कि निरोगी राजस्थान को आम योजना की तरह नहीं वरन जन आन्दोलन की तरह चलाने से इसके अद्भुत परिणाम सामने आएँगे और जल्द ही बीमारियों के आंकड़ों में गिरावट परिलक्षित होगी।
जिला कलेक्टर ने जननी सुरक्षा योजना व राजश्री योजना के अंतर्गत बकाया भुगतानों को गंभीरता से लेते हुए अगले 10 दिन में इसे निपटाने का अल्टीमेटम दे डाला। उन्होने आमजन से भी अपील की कि वे नजदीकी पीएचसी पर आवश्यक प्रपत्र प्रस्तुत कर भुगतान प्राप्त करें। शिशु मृत्यु में गिरावट लाने के लिए जिला कलेक्टर ने लेबर रूम को उच्च मानदंडो पर कसने की नसीहत दी क्योंकि शिशु मृत्यु के पीछे सेप्टीसीमिया यानिकी इन्फेक्शन बड़े कारण के तौर पर पाया जाता है। इसके लिए आरसीएचओ डॉ रमेश गुप्ता द्वारा दक्षता सम्बन्धी चेकलिस्ट जारी की गई जिसे प्रत्येक इंस्पेक्शन के दौरान भरना अनिवार्य किया गया। डॉ नवल किशोर गुप्ता द्वारा प्रस्तुत मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा योजना की समीक्षा में सीएचसी कोलायत पर दवा संख्या कम मिलने पर गौतम ने तत्काल प्रभारी पर कार्यवाही करने के निर्देश दिए और एमएनडीवाई जैसे फ्लैगशिप कार्यक्रम में कोताही से बचने की नसीहत दी। उन्होंने बैठक में अनुपस्थित समस्त अधिकारियों को भी कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। बैठक के दौरान यूएनडीपी के संभागीय कार्यक्रम अधिकारी योगेश शर्मा ने वैक्सीन संधारण के ई-विन सॉफ्टवेयर की प्रगति समीक्षा करते हुए चिकित्साधिकारी द्वारा तापमान की नियमित मॉनिटरिंग की आवश्यकता जताई। आरसीएचओ डॉ रामेश गुप्ता ने आगामी 19 जनवरी को आयोज्य पल्स पोलियो अभियान की तैयारियों की समीक्षा कर प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत की। जिला कलेक्टर ने अभियान को सफल बनाने के लिए अधिकाधिक बूथ कवरेज करने और जन जागरण के निर्देश दिए। बैठक के साथ कोटपा एक्ट 2003 बाबत डीएलसीसी बैठक का आयोजन किया गया और अधिकाधिक चालानिंग के निर्देश दिए गए। बैठक में डिप्टी सीएमएचओ डॉ योगेन्द्र तनेजा, डीपीएम सुशील कुमार, जेपाइगो के संभागीय कार्यक्रम अधिकारी डॉ महेंद्र कोल्हे, डीएनओ मनीष गोस्वामी सहित समस्त बीसीएमओ, बीपीएम व चिकित्साधिकारी उपस्थित रहे।

मकरसंक्रांति पर स्वर्गीय शांति ओझा की स्मृति में दाउलाल ओझा परिवार ने दान की 13 नेबुलाइजर मशीनें……
जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक के दौरान मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग के सेवानिवृत प्रोजेक्ट्निस्ट दाऊलाल ओझा द्वारा अपनी पुत्री स्वर्गीय शांति ओझा की याद में 13 नेबुलाइजर मशीने दान की गई। ये मशीने 11 शहरी डिस्पेंसरियों व 2 ग्रामीण पीएचसी पर तैनात रहेंगी। जिला कलेक्टर कुमार पाल गौतम व सीएमएचओ डॉ बी.एल. मीणा की उपस्थिति में ये मशीने डॉ राहुल हर्ष, डॉ वैभव गहलोत, डॉ मुकेश जनागल सहित विभिन्न चिकित्साधिकारियों व एनयूएचएम सलाहकार नेहा शेखावत को सुपुर्द की गई। जिला कलेक्टर ने इसे अनुकरणीय कार्य मानते हुए मकर संक्रांति के मौके पर श्रेष्ठ दान बताया और आमजन से ऐसे ही उपयोगी दान की अपील की। इस अवसर पर विभागीय अधिकारीयों के अलावा ओझा परिवार के सदस्य भी उपस्थित रहे।

 

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।