भरतपुर की बयाना थाना पुलिस ने भारी वाहनों को खुर्दबुर्द कर लाखो का हेरफेर करने बाली एक अंतरराज्जीय गैंग का किया पर्दाफाश गैंग के 2 सदस्यों को किया गिरफ्तार
August 28th, 2019 | Post by :- | 108 Views

अलवर _ भरतपुर  , ( संवाददाता शोकत  अली  )  । । राजस्थान में भरतपुर की बयाना थाना पुलिस ने भारी वाहनों को खुर्दबुर्द कर लाखो का हेरफेर करने बाली एक अंतरराज्जीय गैंग का किया पर्दाफाश। गैंग के 2 सदस्यों को किया गिरफ्तार। थानाधिकारी दीपक ओझा के अनुसार गैंग के सदस्य भारी वाहनों 10-12-14 चक्का ट्रेलरो को उनके मालिको से एक लाख रुपये प्रतिमाह किराएनामा लिखबा ले लेते थे किराये पर और बाद में इनके इंजिन ब चेसिस नम्बर बदल बेच देते थे किसी अन्य को और बेचे गए भारी वाहनों की चोरी की करा देते थे पुलिस में रिपोर्ट दर्ज। गैंग के सदस्य सुरेंद्र सिंह जाट निबासी हथेनी थाना चिकसाना ने ट्रेलर नम्बर आरजे 11 जीबी 2418 के 21 अगस्त को बयाना से चोरी हो जाने की दर्ज कराई रिपोर्ट लेकिन जाँच में पुलिस को गैंग के कारनामे की लग गई भनक और गैंग का हो गया पर्दाफाश। पुलिस ने चोरी गए बताये ट्रेलर को भी भरतपुर के हाउसिंग बोर्ड कालोनी से कर लिया बरामद। गैंग के सदस्य सुरेंद्र जाट के साथ बुलंदशहर के टाडा मोहल्ला निबासी अलीहसन तेली को भी किया गिरफ्तार। इस ट्रेलर को गैंग ने गीता कसाना मुरैना से 1 लाख रूपये महीने पर लिया था किराये पर। गैंग ने मथुरा निबासी चंचल से ट्रेलर संख्या संख्या UP 85 AT 6156 ब RJ 11 UB 1517, देवेंद्र मुरैना से RJ 11 GB 996 ब 997, अरविंद मुरैना से RJ 11 GB 1443, केशव मुरैना से RJ 11 GB 2507, राजवीर मुरैना से RJ 11 GB 1703 ब 1792 तथा प्रशांत मुरैना से RJ 11 GB 2337 नम्बरो के ट्रेलरों को किराये पर लेकर 25 लाख से अधिक में बेच दिया दुसरो को। गैंग ने बताया कि 9 लाख में 3 ट्रेलर बुलंदशहर के अलीहसन को, 1 ट्रेलर 3 लाख में असलम को, मायापुरी दिल्ली के सोनू सरदार को 1 ट्रेलर 4 लाख में, पुन्हाना के रफीक को 1 ट्रेलर 4.50 लाख में, दिल्ली के सुनील को 1 ट्रेलर 3 लाख में तथा मथुरा के रूपेंद्र उर्फ अजय को 3 ट्रेलर दिए बेच। गैंग के पर्दाफाश में थानाधिकारी के अलाबा सहायक उपनिरीक्षक महेश चंद ब दामोदर शर्मा के अलाबा कांस्टेबल गिरधारी, हरदेव जोशी,दिनेश की भूमिका रही सराहनीय।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।