हुड्डा व चौटाला दोनो नेता डिप्रेशन के शिकार
January 10th, 2020 | Post by :- | 103 Views

रोहतक : 【लोकहित एक्सप्रेस ब्यूरो चीफ विकास ओहल्याण 9541232423 रोहतक】जिला लोक संपर्क एवं कष्ट निवारण समिति की बैठक की अध्यक्षता करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में विज ने विपक्ष पर भी तन्च किया उन्होंने
पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा व ओम प्रकाश चौटाला द्वारा प्रदेश में मध्यावधि चुनाव की आशंका जताई जाने के बारे में कहा कि यह दोनों नेता डिप्रेशन का शिकार हो चुके हैं। लोक संपर्क एवं कष्ट निवारण समिति की बैठक में गृहमंत्री अनिल विज के सामने लोगों ने जमकर हंगामा किया। महिलाओं ने रोना शुरू कर दिया था। जैसे तैसे पुलिस कर्मियों ने स्थिति को संभाला और लोगों को चुप कराया। माहौल बिगड़ता देख मंत्री विज ने एसपी को फटकार लगाई साथी ही डीसी को निर्देश दिए कि दोबारा ऐसी अव्यवस्था नही होनी चाहिए।
गृहमंत्री के रूप में सीआइडी को लेकर मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल से तनातनी के बाद अब शहरी निकाय मंत्री के रूप में विज ने बड़ा कदम शहरी निकायों में सीएलयू पर तत्‍काल प्रभाव से रोक लगा दी है। अब ऑनलाइन प्रक्रिया की व्‍यवस्‍था होने पर सीएलयू (चेंज ऑफ लैंड यूज) शुरू हाेगी।

 

■ हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा है कि डॉक्टरों की कमी पूरी करने के लिए सरकार ने एडहोक नीति बनाई है। जिला लोक संपर्क एवं कष्ट निवारण समिति की बैठक की अध्यक्षता करने के बाद स्थानीय सिंचाई विश्राम गृह में मीडिया कर्मियों से बातचीत कर रहे थे। भाजपा की सरकार ने स्वास्थ्य सेवाओं का बजट 2300 सौ करोड़ से बढ़ाकर 5000 करोड़ किया है और आने वाले समय में इस बजट को बढ़ाकर 10,000 करोड़ का किया जाएगा।
अस्पतालों की बिल्डिंग को बेहतर किया जाएगा। हर जिले में ट्रॉमा सेंटर स्थापित किए जाएंगे।
पीजीआई रोहतक को लेकर महम के विधायक बलराज कुंडू द्वारा लगाए गए आरोपों के बारे में उन्होंने कहा कि विधायक ने जो आरोप लगाए हैं उन सब पर कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि राज्य की सभी नगर पालिकाओं का रिकॉर्ड चेक करवाया जा रहा है ताकि आवश्यकता अनुसार संबंधित क्षेत्र के लोगों को और अधिक सुविधाएं प्रदान की जा सके।

 

 

विपक्ष पर भी किया तन्च अनिल विज ने कहा कि शिक्षण संस्थानों में राजनीतिज्ञों का कोई प्रवेश ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि विपक्ष के कुछ लोग शिक्षण संस्थानों का प्रयोग देश को अस्थिर करने के लिए करना चाहते हैं। राजनेताओं को छात्र राजनीति से अलग रहना चाहिए।

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।