नालागढ़ नगर परिषद को मिलेगा नया अध्यक्ष
January 9th, 2020 | Post by :- | 153 Views

राकेश गौतम (नालागढ़)

नगर परिषद नालागढ़ को 20 जनवरी को नया अध्यक्ष में जाएगा इसके लिए उपमंडल प्रशासन ने अध्यक्ष के चयन के लिए तारीख तय कर दी है इसके तहत नगर परिषद को अब नया अध्यक्ष मिल जाएगा परिषद का यह पद पूर्व अध्यक्ष के असामयिक निधन के कारण 4 माह से रिक्त पड़ा हुआ है अध्यक्ष ना होने के कारण उपाध्यक्ष के पास ही परिषद के अध्यक्ष पद का अतिरिक्त कार्यभार चला हुआ है लेकिन अब यहां परिषद को स्थाई अध्यक्ष मुहैया हो जाएगा पूर्व अध्यक्ष स्वर्गीय नीरू शर्मा वार्ड नंबर 8 के पार्षद थी और इस सीट पर बकायदा उपचुनाव हुआ है यहां से उनकी बहन श्रीमती प्रभात किरण ने चुनाव जीता बता दें कि करीब 4 माह से रिक्त चल रहे अध्यक्ष पद के बाद सियासी गलियारों में आगामी अध्यक्ष पद को लेकर काफी चर्चा चली हुई है क्योंकि इस बार नगर चुनाव में शहर के वार्ड नंबर 9 में से मात्र 3 पार्षद ही ऐसे बचे हैं जिनमें किसी को कोई पद नहीं मिला अन्य सभी अध्यक्ष व उपाध्यक्ष बन चुके हैं इस बार 5 साल के लिए चुनी गई परिषद में तीन अध्यक्ष उपाध्यक्ष बदले जा चुके हैं इस बार चौथी बार अध्यक्ष पद का चयन किया जाएगा,

नगर परिषद नालागढ़ के तहत पार्षद महेश गौतम, मनोज वर्मा, स्वर्गीय नीरु शर्मा को अध्यक्ष बनाया जा चुका है जबकि सरोज शर्मा नीलम खुल्लर उपाध्यक्ष बन चुकी है जबकि पार्षद धर्मेंद्र राणा वर्तमान में उपाध्यक्ष पद पर आसीन है और वही अध्यक्ष पद का काम देख रहे हैं अभी तो पिछले कार्यकाल में नगर परिषद अध्यक्ष के पद पर आसीन रह चुके परिषद के तहत इस कार्यालय में 2 पार्षद पवन कुमार पम्मा व आशा गौतम ही बचे हैं जिन्हें अभी तक कोई पद नहीं मिला पार्षद प्रभात किरण हाल ही में उपचुनाव जीत कर आई है पार्षद अपनी २- गोटियां बिठाने में जुट गए हैं और कई नामों में शहर में चर्चाओं का दौर चला हुआ है बताया जाता है कि जिस पार्षद के पास 4 पार्षद होंगे वहीं अध्यक्ष बनेगा क्योंकि ऐसे पांच पार्षदों की एकजुटता से ही अध्यक्ष का चयन होगा।

एसडीएम श्री प्रशांत देशटा ने कहा कि अध्यक्ष के चयन के लिए 20 जनवरी का दिन तय कर दिया है और कोरम पूरा होने की सूरत में इसी दिन अध्यक्ष का चुनाव हो जाएगा अन्यथा आगामी तिथि तय करनी होगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।