सरकार ले रही है जनता हितैषी फैसले–लोगों की भलाई के लिए फैसले  लेकर उनको अमलीजामा पहनाना हमारी नीति और नियत:-गृहमंत्री अनिल विज। 
January 8th, 2020 | Post by :- | 93 Views

अम्बाला, ( सुखविंदर सिंह ) गृह, शहरी स्थानीय निकाय एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने प्रदेश सरकार द्वारा हरियाणा में पंचायती राज संस्थाओं को और अधिक वित्तीय अधिकार प्रदान करके उन्हें सशक्त करने की दिशा में एक ओर सराहनीय काम किया है। उन्होंने कहा कि इसके तहत पंचायती राज संस्थाएं और अधिक मजबूत होंगी तथा 1 अप्रैल 2020 से व्यक्तिगत शौचालयों के निर्माण के लिए लाभानुभोगियों को वित्तीय सहायता की अदायगी पंचायत समितियों के माध्यम से हो सकेगी। इस  योजना के तहत लोगों को अपने घरों में शौचालयों के निर्माण के लिए 12 हजार रूपये का भुगतान किया जायेगा। सरकार जनता के हित में बडे फैसले ले रही है। लोगों की भलाई के लिए फैसले लेकर उनको अमलीजामा पहनाना हमारी सरकार की नीति और नियत रही है।
गृहमंत्री ने कहा कि सरकार के कुशल नेतृत्व में हर वर्ग के कल्याण के लिए योजनाओं को क्रियान्वित करने के साथ-साथ उन्हें धरातल पर भी लागू करने का काम किया गया है। पिछले पांच सालों में पूरे प्रदेश मे समान रूप से विकास कार्यों को करवाकर उन्होंने लोगों का विश्वास जीतने का काम किया है और सभी क्षेत्रों में समान रूप से विकास कार्यों का पहिया निरंतरता में घूम रहा है। उन्होने यह भी कहा कि विकास कार्यो की दृष्टि से सरकार का गठन होते ही सभी विधायकों को पांच-पांच करोड़ रूपये की राशि विकास कार्यों के लिए देने की घोषणा जनहित के लिए मील का पत्थर साबित होगी।
उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार सभी को साथ लेकर प्रदेश को निरंतर आगे ले जाकर नये कीर्तिमान स्थापित करने का काम कर रही हैं। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में हुई स्वच्छ भारत मिशन और राज्य स्तरीय बैठक में पंचायती राज संस्थाओं के लिए लिया गया कदम इसका उदाहरण है। उन्होंने कहा कि स्वच्छता के क्षेत्र में लोगों की सोच में बदलाव आया है। आये दिन प्रदेश में सेवा और विकास के नये आयाम स्थापित हो रहे हैं। उन्होने कहा कि हमारा मुख्य उद्देश्य जनसेवा है और इस दिशा में वृहद पैमाने पर सतत प्रयास जारी हैं। 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।