15 जनवरी से 14 फरवरी तक चलेगा ‘मलेरिया मुक्त कोण्डागांव‘ अभियान
January 7th, 2020 | Post by :- | 83 Views
छत्तीसगढ़(कोंडागांव)-   प्रथम चरण में जिले के 52 हजार से अधिक घरों में दस्तक देगी 56 सर्वेक्षण दल चार विकासखण्डो के 14 उप स्वास्थ्य केन्द्रों द्वारा 51 ग्रामों को किया जायेगा शामिल  स्कूलों सहित आश्रम-छात्रावासों और पैरा-मिलेट्री कैम्पों में भी मलेरिया की होगी जांच एवं पॉजिटिव्ह पाये जाने पर त्वरित ईलाज
कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा जारी विज्ञप्ति अनुसार स्वास्थ्य विभाग की मलेरिया सर्वेक्षण टीम जिले की 52 हजार से अधिक घरों में पहुंचकर हरेक व्यक्ति के खून की जांच कर मलेरिया धनात्मक प्रकरण पाये जाने पर त्वरित ईलाज करेगी। यह टीम हर घर के साथ ही स्कूलों सहित आश्रम-छात्रावासों और पैरा-मिलेट्री कैम्पों में भी मलेरिया की जांच कर पाजिटिव्ह प्रकरण के मरीजों को सम्पूर्ण उपचार सुविधा उपलब्ध करायेगी। कोण्डागांव जिले को मलेरिया मुक्त करने के लिये स्वास्थ्य विभाग द्वारा महिला एवं बाल विकास, स्कूल शिक्षा विभाग, आदिवासी विकास, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभागों के मैदानी अमले के साथ समन्वय कर 15 जनवरी से 14 फरवरी तक मलेरिया मुक्त कोण्डागांव अभियान चलाया जायेगा।
इस महत्वकांक्षी अभियान को सुचारू रूप से संचालित करने के लिये कलेक्टर श्री नीलकंठ टीकाम स्वास्थ्य विभाग की टीम को आवश्यक निर्देशित करते हुए कहा है कि इस महत्वाकांक्षी अभियान को जन-अभियान बनाने के लिये लोगों में व्यापक जागरूकता लाये जाने पहल किया जाये। ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्य विभाग के साथ ही अन्य मैदानी अमले के सहयोग से जनजागरूकता निर्मित किया जाये। इस दिशा में सभी लोगों को मच्छरदानी का उपयोग करने,पेयजल स्रोतों यथा हैंडपंपों-सोलर ड्यूल पम्पों के समीप तथा घरों के आस-पास जलभराव को रोकने, घरों के समीप गन्दे पानी की निकासी करने, शुद्ध पेयजल का उपयोग करने, गर्म एवं ताजा भोजन का सेवन करने सहित बीमार होने पर समीपस्थ स्वास्थ्य केन्द्र में अनिवार्य रूप से उपचार कराये जाने तथा मलेरिया बुखार की स्थिति में सम्पूर्ण उपचार कराने की समझाईश दी जाये। उन्होंने इस ओर व्यापक जनसहभागिता सुनिश्चित कर गांवों में लोगों को मच्छरदानी के उपयोग के लिए प्रेरित किये जाने कोटवारों के जरिये मुनादी कराये जाने तथा डोंडी पिटवाकर सतर्क करने कहा। वहीं आश्रम-छात्रावासों और आवासीय विद्यालयों में हर दिन संध्या में घण्टी बजाकर मच्छरदानी लगाने के लिये आगाह करने पर बल दिया, ताकि गांव के लोग भी सतर्क हो सकें। इसके साथ ही स्कूली बच्चों को पेम्पलेट-पोस्टर वितरित कर उनके माध्यम से ग्रामीणों को जागरूक किया जाये। वहीं आंगनबाड़ी केंद्रों तथा सुपोषण केन्द्रों में भी मलेरिया उन्मूलन अभियान के बारे में चर्चा कर गर्भवती एवं पोषक माताओं को अवगत कराया जाये।कलेक्टर श्री वर्मा ने इस हेतु विभिन्न विभागों के मैदानी अमले के साथ अंतर्विभागीय समन्वय स्थापित कर इस महत्वाकांक्षी अभियान के दायरे में अधिक से अधिक लोगों को सम्मिलित करने कहा। उन्होंने मलेरिया मुक्त कोण्डागांव अभियान के अंतर्गत मलेरिया उन्मूलन के साथ ही एनीमिया और कुपोषण दूर करने पर भी फोकस करने अधिकारियों को निर्देशित किया।
उल्लेखनीय है कि मलेरिया उन्मूलन का यह अभियान प्रथम चरण में 15 जनवरी से 14 फरवरी तक चलाया जायेगा। इसके बाद इस वर्ष मानसून के पहले मई-जून में दूसरा चरण और तीसरा चरण साल के अंत में दिसम्बर-जनवरी महीने में संचालित किया जायेगा। 15 जनवरी से शुरू हो रहे इस अभियान के पहले चरण हेतु कोण्डागांव जिले में स्वास्थ्य विभाग द्वारा 56 सर्वेक्षण दलों का गठन किया गया है। प्रत्येक उप स्वास्थ्य केंद्र स्तर पर स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और मितानिन को शामिल कर चार जांच दलों को सर्वेक्षण सह उपचार की जिम्मेदारी दी गयी है। ये सर्वेक्षण दल जिले के 52 हजार से अधिक घरों में डोर टू डोर सम्पर्क कर लोगों की जांच करेगी और मलेरिया के धनात्मक प्रकरण पाये जाने पर दवाई देकर तत्काल ईलाज शुरू करेगी। इस महत्वाकांक्षी अभियान के दौरान मच्छर पनपने की जगहों की साफ-सफाई करने सहित मलेरिया दवाई के छिड़काव के साथ ही लोगों को मच्छरदानी का अनिवार्य रूप से उपयोग करने के लिये प्रेरित भी किया जायेगा।
ज्ञातव्य है कि राज्य शासन के निर्देशानुसार स्वास्थ्य विभाग की टीम बस्तर संभाग के पौने तीन लाख से अधिक घरों में पहुंचकर करीब 14 लाख लोगों के खून की जांच कर मलेरिया पाए जाने पर त्वरित इलाज उपलब्ध कराएगी। हर घर के साथ ही स्कूलों, आश्रम-छात्रावासों और पैरा-मिलेट्री कैंपों में भी मलेरिया की जांच किया जायेगा। जिसके तहत बस्तर संभाग को मलेरिया मुक्त करने स्वास्थ्य विभाग द्वारा 15 जनवरी से 14 फरवरी 2020 तक ‘मलेरियामुक्त बस्तर अभियान’ चलाया जाएगा। इस क्रम में कोण्डागांव जिले के माकड़ी, केशकाल, कोंडागांव और फरसगांव विकासखंड के 14 उपस्वास्थ्य केंद्रों के अंतर्गत आने वाले क्षेत्र में यह अभियान चलाया जाएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।