एक्सिस बैंक के ए टी एम के लूट के मामले एस पी ने पुलिस कर्मियों की थपथपाई पीठ ।
January 6th, 2020 | Post by :- | 220 Views

एटीएम लूट मामले में एसपी (डी) ने थप-थपाई पुलिस मुलाजिमों की पीठ।
पकड़े गए लुटेरों का मानयोग अदालत ने दिया 2 दिन का रिमांड।

जंडियाला गुरु  (कुलजीत सिंह) पिछली रात जंडियाला गुरु के एक्सिस बैंक की गहरी मंडी की ब्रांच में देर रात लुटेरों द्वारा बैंक का एटीएम तोड़कर पैसे लूटने की नाकाम कोशिश की गई थी। जिन पुलिस मुलाजिमों द्वारा लुटेरों की कोशिश नाकाम की गई थी, आज उन पुलिस अफसरों तथा मुलाजिमों को एसपी (डी) ने शाबाशी दी और प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों से भी मिलवाया। एसपी (डी) अमृतसर देहाती, अमनदीप कौर ने पत्रकार वार्ता दौरान कहा कि पिछली रात एक्सिस बैंक के एटीएम को तोड़ने की कोशिश, जंडियाला गुरु के एसएचओ रछपाल सिंह, पीसीआर मुलाज़म तथा अन्य अधिकारियों ने बहुत मुस्तैदी के साथ काम करते हुए नाकाम बना दी और मौके पर ही तीन लुटेरों को हथियारों सहित काबू कर लिया । एसपी अमनदीप ने कहा कि पकड़े गए इन मुलजिमों को माननीय अदालत में पेश करके, आगे की पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया गया है । क्योंकि इनके बाकी के दो फरार साथियों का पता लगाने के लिए समय की जरूरत थी । इस मौके पर एसपी (डी) ने बताया कि इन काबू किए गए लुटेरों की पहचान शमशेर सिंह शेरू, विक्रमजीत सिंह, प्रभजीत सिंह , तथा अन्य दो फरार की पहचान अमरजीत सिंह तथा अरश राज सिंह के तौर पर हुई है । जो के जिला तरनतारन के रहने वाले हैं । उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि जंडियाला गुरु की पुलिस की इस कार्रवाई में पीसीआर मुलाजिम मेजर सिंह तथा मनजिंदर सिंह ने बहुत बहादुरी के साथ काम किया और मौके वारदात पर सबसे पहले पहुंचे । उन्होंने कहा कि पुलिस ने कार्रवाई में बैंक के तकरीबन 27 लाख रुपयों लूटने से बचा लिए हैं। इस मौके पर एसपीडी अमनदीप कौर के अलावा डीएसपी जंडियाला गुरु गुरविंदर सिंह सिद्धू . एएसपी सुहेल, डीएसपी हरकिशन सिंह डीएसपी अरुण शर्मा एस एच ओ जना गुरु रिसपाल सिंह मौजूद थे।

कैप्शन:– एसपी (डी) अमनदीप कौर, डीएसपी गुरविंदर सिंह सिद्धू तथा पुलिस पार्टी पकड़े गए लुटेरों के साथ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।