बद्दी ! सीएए और एनआरसी के समर्थन में तिरंगा के साथ उतरा विशाल जनसैलाब
January 5th, 2020 | Post by :- | 197 Views

– बद्दी में सीएए और एनआरसी के समर्थन में निकाली विशाल रैली

– सहित समस्त हिन्दू संगठन,व्यापारी व सामाजिक संगठनों के भारी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे

अभी तक पूरे देश ने नागरिकता कानून को लेकर बड़ा विरोध प्रदर्शन देखा। लेकिन अब सड़कों पर इसके समर्थन में लोगों का हुजूम उठने लगा है। पिछले दो हफ्तों से ज्यादा समय से पूरे देश में भ्रम की स्थिति बनी और देखते देखते विरोध की आग ने कई राज्यों को अपनी चपेट में ले लिया। रविवार को उद्योगिक क्षेत्र बद्दी में नागरिकता कानून के समर्थन में लाखो लोग सड़कों पर उतरे और विशाल तिरंगा रैली निकाली गई। सभी लोगों ने शांति पूर्वक मार्च निकाला। नागरिकता कानून के समर्थन में इस रैली में बद्दी की सभी सामाजिक,धार्मिक संस्थाओं, रैजिडैन्टस वैलफेयर एशोसिएशनस, योगा सोसाइटी, सीएए समर्थकों, बद्दी विकास मंच,बुद्धिजीवियों, स्वयंसेवक संघ,भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने के साथ साथ आज जनता के हजारों लोगों ने भाग लिया। इस रैली में एक विशाल लंबा तिरंगा लोगों ने अपने हांथों से पकड़ रखा था। सभी लोग इस कानून के समर्थन में नारे लगाते नजर आए। लोगों का कहना है कि हम रैली से यह संदेश देना चाहते हैं कि इस तरह के कानून से देश का हित है और इसमें किसी भी नागरिक को कोई खतरा नहीं है।
रैली में लोग दोपहर 2 बजे फेज1 हाउसिंग बोर्ड बद्दी में मल्होत्रा हॉस्टिपल के पास एकत्रित हुए तथा इसके बाद नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में रैली निकाली गई। रैली में घूमकर लोगों को ये संदेश दिया गया कि अफवाहों पर ध्यान ना दें। तो वहीं इस कानून के बारे में पढ़ें और सोचें। लोगों ने कहा कि भारत सरकार नागरिक के हितों के लिए इस बिल को लाई है। यह नागरिकता संशोधन बिल लोगों को नागरिकता देने वाला है और इससे किसी को घबराने की जरूरत नहीं है। भारत सरकार के इस बिल का हम लोग समर्थन करते हैं। रैली में भारी संख्या में लोगों ने सड़क पर उतरकर इस कानून का समर्थन किया है साथ ही इस कानून से उन लोगों को फायदा पहुंचेगा, जिन्होंने पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में यातनाएं झेली हैं। इस कानून से उनको भारत की नागरिकता मिल जाएगी ताकि वो भी अपना जीवन आसानी से जी सकें तथा सरकारी सेवाओं का लाभ उठा सकें। इस दौरान राष्ट्रभक्ति से जुड़े नारे से पूरा इलाका गुंजायमान रहा। इस दौरान लोग भारत माता की जय कारों के साथ शांतिपूर्ण तरीके से रैली निकली। रैली में शामिल समर्थक मोदी-शाह संघर्ष करो हम तुम्हारे साथ हैं, भारत माता की जय कारों के साथ शांतिपूर्ण तरीके से जुलूस को निकाला इस जुलूस में तकरीबन कई हजार लोग शामिल थे और सभी लोग भारत सरकार के इस बिल का समर्थन करते हुए नजर आए।

रैली का समापन पर गणेश दत्त उपाध्यक्ष हिमफैड हिमाचल प्रदेश ने कहा कि यह कानून देश के किसी नागरिक की नागरिकता छीनने के लिए नहीं बना। यह तो नागरिकता देने के लिए बनाया गया है। वर्ष 2014 से पूर्व पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश से आए हिन्दु, सिक्ख, ईसाई, बौद्ध लोग जो भारत में आए है उनको नागरिकता देने के लिए है। पाकिस्तान में आजादी के समय 23 प्रतिशत हिंदू थे जो घटकर 5 प्रतिशत रह गए। वहां पर उन लोगो पर जुल्म किया तथा देश छोड़ने के लिए मजबूर किया। दूसरी ओर भारत में सभी समुदाय के लोगों को बराबरी का अधिकार मिला हुआ है। इस विशाल विशाल रैली का मुख्यतौर पर श्री गणेश दत्त उपाध्यक्ष हिमफैड हिमाचल प्रदेश व दून के लोकप्रिय विधायक सरदार परमजीत सिंह पम्मी, गऊ वंश आयोग के उपाध्यक्ष अशोक शर्मा, जिला सोलन अध्यक्ष आशुतोष वैद्य, सचिव जिला सोलन भाई श्रवण चंदेल,दून मण्डल अध्यक्ष भाई बलबीर ठाकुर, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य कैप्टन डी आर चंदेल, पूर्व विधायक विनोद चंदेल, अध्यक्ष नगर परिषद बद्दी भाई नरेंद्र दीपा, बलविंदर ठाकुर, संजीव कौशल, डॉ श्रीकांत, बेअंत ठाकुर, समस्त हिन्दू संगठन,व्यापारी, सामाजिक संगठनों व अन्य लोग उपस्थित रहे।

– क्या कहते है दून विधायक परमजीत सिंह पम्मी…

रैली में मौजूद दून विधायक परमजीत सिंह पम्मी ने कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर रहने वाले लोग देश की जनता को भ्रमित कर रहे हैं, एनआरसी के संदर्भ में टेलीविजन पर आकर गलत संदेश दे रहे हैं। एनआरसी के संदर्भ में कैबिनेट में चर्चा नहीं हुई है, एनआरसी को ड्राफ्ट नहीं हुआ है, कानून बनना तो दूर की बात है। ऐसे कुछ लोग देश की जनता को भ्रमित कर रहे हैं। ऐसे में कुछ लोग लोगों को भ्रमित करने का प्रयास कर रहे हैं ऐसे लोगों को समझाने के लिए तथा उनके बीच जागरूकता फैलाने के लिए यह रैली निकाली गई है। पम्मी ने कहा भारत में सीएए की आवश्यकता क्यों पड़ी इसे आम जनता को समझना होगा। सीएए कानून नागरिकता देने का है नागरिकता लेने का नहीं है, इसीलिए आम लोगों को जागरूक करने के लिए यह विशाल जागरूकता रैली निकाली गई है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।