राष्ट्रीय जागरण मंच पाकिस्तान में ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हुए हमले की घोर निंदा करता है
January 4th, 2020 | Post by :- | 107 Views

बराड़ा, (जयबीर राणा)
पाकिस्तान में गुरद्वारा जन्म स्थान ननकाना साहिब पर हुए हमले की राष्ट्र जागरण मंच घोर निंदा करता है और देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी से इस मुद्दे को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उठाने की मांग करता है मंच के संस्थापक अमरिंदर सिंह ने कहा कि जो लोग ननकाना साहिब का नाम बदलने की बात करते हैं पहले वह अपने घर में झांक तो ले उनकी औकात ही क्या है ।अमरिंदर सिंह ने कहा ननकाना साहिब पर जो हमला हुआ जो पत्थरबाजी हुई इतना सब कुछ होने के बावजूद वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान चुप्पी साधे हुए हैं बड़े ही शर्म और दुख की बात है। पाकिस्तान अपना वजूद भूलता जा रहा है पाकिस्तान में रह रहे सिख समुदाय के लोगों से कहना चाहता हूं कि डरने की कोई जरूरत नहीं आपको आपके हक के लिए आपकी रक्षा के लिए राष्ट्र जागरण मंच लड़ाई लड़ेगा पाकिस्तान सरकार को चाहिए जिन शरारती तत्वों ने इस घटना को अंजाम दिया है तुरंत उनके खिलाफ कार्रवाई करें । अगर वहां की सरकार उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं कर सकती या फिर किसी दबाव में है उन शरारती तत्वों को भारत के हवाले करें क्योंकि इतना वक्त बीत जाने के बावजूद भी कार्यवाई न होने के कारण लगता है पाकिस्तान सरकार चूड़ियां पहन कर बैठी है ।उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान नो जो किया, बहुत ही निंदनीय है। पाकिस्तान में सिखों पर जो हमला हुआ है, सीखों को जो धमकी दी गई है, ननकाना साहिब के नाम को बदलने की जो धमकी दी गई है और यहां तक कि पाकिस्तान से सिखों को निकालने की धमकी दी गई है, हम उसकी कड़ी निंदा करते हैं।’
सिंह ने कहा कि सिख समुदाय किसी से डरने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि सिखों को बीमारी का इलाज करना आता है। हम अपनी जान देना जानते हैं और किसी की जान लेना भी जानते हैं। हम यह भी बताना चाहते हैं कि हमें अपनी तरफ आने वाले सांपों का सिर कुचलना आता हैं । इस हमले के लिए सीधे तौर पर पाकिस्तान की सरकार जिम्मेदार है। आज दोसड्का मे राष्ट्र जागरण मंच और बाबा बन्दा सिंह बहादुर दल सहित कई संस्थाए मिलकर इस घटना के लिये रोष मार्च करेंगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।