वजीरपुर- सरकारी विद्यालयों का हाल बेहाल
January 4th, 2020 | Post by :- | 92 Views

वजीरपुर, (महेन्द्र शर्मा ) उपखण्ड़ क्षेत्र में सरकारी विद्यालयों का अप-डाउन के चलते कर्मचारियों का आवागमन समय नहीं होने से विद्यालयों का हाल बेहाल हो गया।

 

राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय वजीरपुर में शनिवार को दस बजकर पांच मिनट पर पांच अध्यापक और बाईस बालकों के साथ प्रार्थना होती नजर आई। कहने को विद्यालय में चार सौ से अधिक बालक बालिका है। अध्यापक और व्याख्याता भी मिलाकर एक दर्जन से अधिक है , लेकिन आप डाउनलोड के चलते कर्मचारियों की संख्या समय पर नहीं आ पाती है। ऐसे में विद्यालय के बालकों को भविष्य अंधकारमय नजर आता है। एक प्रधानाचार्य मुकेश मीणा ने विद्यालय के परिवेश पौधारोपण, साफ सफाई और ब्लॉक बी को चमकाने का पूरा प्रयास जारी हैं लेकिन बालकों और अध्यापकों पर अभी तक शिकंजा कसने में शिथिलता बरतने के चलते कर्मचारियों द्वारा समय का ध्यान नहीं दिए जाने के कारण लेट लतीफी नजर आती है। उच्चाधिकारी के द्वारा जांच के अभाव में विद्यालयों की व्यवस्था जस की तस है। विद्यालयों में दो कमेटी बनाई जाती है। जिनमें विद्यालय में अध्ययन करने बालकों के अभिभावकों को एस एम सी और एसडीएमसी सदस्यों  में शामिल करना चाहिए, लेकिन अभिभावकों के नाम भी इन कमेटियों में होने की आशंका नजर आती है। कर्मचारियों के हितेषी और उनकी सहमति करने बालों को सदस्य बनाए जाने से विद्यालयों के संचालन में सुधार नहीं हो पाता।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।