एसडीएम के न मिलने के कारण नहीं हो सकी अविश्वास की प्रक्रिया, वर्तमान नपा चेयरपर्सन को राहत
January 3rd, 2020 | Post by :- | 141 Views

अंबाला , बराड़ा ( गुरप्रीत सिंह मुल्तानी )
नपा के बागी पार्षद समय से कार्यालय पहुंच गए लेकिन एसडीएम बराड़ा  पार्षदों के पहुंचने के करीब दो घंटे बाद तक नही पहुंचे। बाद में पता चला कि एसडीएम बराड़ा भारत भूषण कौशिक का तबादला होने के कारण वह बीरवार को ही रिलीव हो चुके थे। जो भी हो एसडीएम बराड़ा के न पहुंचने के बाद पार्षद एक बस में बैठक कर डीसी अंबाला को मिलने के लिए अंबाला रवाना हो गए। फिल हाल रमा खेत्रपाल की कुर्सी सुरक्षित रही है। बता दें कि नगर पालिका के बागी 11 पार्षद रिचा पाहवा वार्ड नंबर 13, अभिलाषा वार्ड नंबर 4, सीमा रानी वार्ड़ नंबर 8, शमशेर सिंह वार्ड  नंबर 1, सुरजीत सिंह वार्ड नंबर 3, दीपक बाजवा वार्ड नंबर 15, अमित कुमार वार्ड नंबर 2, मनीष उर्फ माना वार्ड नंबर 9, योगिता रानी वार्ड नंबर 5 , जसविद्र सिंह वार्ड नंबर 11 व अंजू रानी वार्ड नंबर 6 से  शुक्रवार को करीब साढ़े दस बजे एसडीएम कार्यालय में पहुंचे। सभी पार्षदों अपने समर्थकों के संपर्क में थे। दोसड़का पहुंचते ही उनके आकाओं की गाडिय़ां हर चौक चोराहे पर तैनात रही। सीधे एसडीएम कार्यालय बराड़ा में पहुंचे जिसके बाद पुलिस की मुस्तैदगी में एसडीएम कार्यायल पहुंचे। हालांकि एसडीएम बराड़ा भारत भूषण कौशिक कार्यायल में नही पहुंचे थे। दो घंटे की इंतजार के बाद जब एसडीएम अपने कार्यालय में नही पहुंचे तो कई बार पार्षदों ने एसडीएम बराड़ा को संपर्क साधने का प्रयास किया लेकिन फोन रिसीव नही हुआ। उधर नपा चेयरपर्सन के पति अनमोल खेत्रपाल भी मौके पर पहुंच गए थे। बाद में पुलिस ने उनको अंदर जाने नही दिया।

पुलिस ने मीडिया कर्मचारियों को पार्षदों से मिलने नहीं दिया , जबकि चेयरपर्सन रमा खेत्रपाल के पति को एक बार भी अंदर जाने से नही रोका । जब मीडिया कर्मचारियों ने पार्षदों से मिलना चाहा तो पुलिस ने मीडिया कर्मचारियों को अंदर जाने नही दिया। जबकि चेयरपर्सन पति अनमोल खेत्रपाल एसडीएम कार्यालय में पार्षदों से मिलने पहुंच गए बाद में सवालिया निशान उठाए जाने पर पुलिस को पसीने आए ओर अनमोल को बाहर की ओर कर दिया।

वरुण चौधरी, विधायक मुलाना:- यह भाजपा का अंदरूनी मामला है। नपा कार्यालय में पहले ही स्टाफ पूरा नहीं है और इस प्रकरण की वज़ह से काफी दिनों से स्थानीय पार्षद उपलब्ध नहीं हैं। जिस कारण जनता को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।