न्याय की लड़ाई लड़ने वाले वकीलों को भी मिले सुरक्षा : कालड़ा
January 3rd, 2020 | Post by :- | 104 Views

बराड़ा| (जयबीर राणा थंबड़)
वकील हमेशा जनता के न्याय और अधिकारों की लड़ाई लड़ते हैं परंतु बहुत खेद की बात है कि इनकी अधिकारों की लड़ाई कोई नहीं लगता| आजादी से लेकर आज तक कितनी सरकारें आई और गई परंतु किसी ने भी अधिवक्ताओं के सुरक्षा और न्याय का कोई मापदंड तय नहीं किया है| यह शब्द पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट बार कौंसिल के पूर्व चेयरमैन सरदार अमरीक सिंह कालड़ा ने एक भेंट के दौरान कहे| श्री कालड़ा पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के अधिवक्ता ललित मोहन बराड़ा के नववर्ष के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए विशेष रुप से पधारे थे| सरदार कालड़ा जी ने गत दिनों दिल्ली में वकीलों और पुलिसकर्मियों के बीच हुई लड़ाई पर कहा कि दोनों का कर्तव्य जनता की रक्षा करना और न्याय दिलाना है ऐसे मनमुटाव समाज में विपरीत संदेश देते हैं| उन्होंने कहा वकीलों के लिए सरकार को पेंशन योजना एवं सुरक्षा व्यवस्था का प्रावधान करना चाहिए ताकि सेवानिवृत्त हो चुके अधिवक्ता किसी के मोहताज ना रहे और स्वयं को सुरक्षित महसूस करें|
देश में चल रहे मौजूदा हालातों एनआरसी और सीसीए पर बोलते हुए श्री कांलड़ा जी ने कहा कि सरकार द्वारा जो भी बिल पास किए जा रहे हैं वह सब संविधान के मर्यादाओं का पालन करते हुए ही किए जा रहे हैं व सभी भारतवासियों को उन्हें अपना समर्थन देना चाहिए|
इस अवसर हाईकोर्ट के एडवोकेट मनिंद्र सिंह, मनदीप सिंह टोट, गुरविंद्र सिंह ढींढसा, डा. अशोक कुमार, डा. अश्विनी कुमार, राजेश कुमार, यूपी के इलाका मजिस्ट्रेट डा. दयानंद आदि मौजूद रहे|

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।