ग्लोबल वार्मिंग का एकमात्र समाधान वातावरण शुद्धि के लिए पेड़ लगाना :हरनाम सिंह खालसा ।
August 27th, 2019 | Post by :- | 82 Views
ग्लोबल वार्मिंग का एकमात्र समाधान पर्यावरण शुद्धि के लिए पेड़ लगाना है: बाबा हरनाम सिंह खालसा।
  जंडियाला गुरु  (कुलजीत सिंह) – दमदमी टकसाल के प्रमुख और संत समाज के अध्यक्ष संत ज्ञानी हरनाम सिंह खालसा ने बढ़ते वायु प्रदूषण की समस्या पर चिंता व्यक्त की और कहा कि वातावरण में बवंडर था।  जिसके कारण हमें अधिक से अधिक पेड़ लगाने की आवश्यकता है।
  संत ज्ञानी हरनाम सिंह खालसा दमदमी, गुरुद्वारा गुरुदर्शन प्रकाश मेहता के मुख्यालय की स्थापना के लिए समर्पित झाड़ियों (50 वर्ष) को वितरित करके वृक्षारोपण के खिलाफ हरियाली अभियान की शुरुआत कर रहे थे।  आज इस अभियान के तहत संत ज्ञानी करतार सिंह खालसा चैरिटेबल ट्रस्ट और संत ज्ञानी गुरबचन सिंह खालसा अकादमी ने क्षेत्र की 6 दर्जन पंचायतों में 15 हजार वनस्पति झाड़ियों का वितरण किया।  इस अवसर पर बोलते हुए, दमदमी टकसाल के प्रमुख ने कहा कि भ्रूण हत्या, दहेज, नशा जैसी सामाजिक बुराइयां चिंता का विषय हैं, जिन्हें समाप्त करने की आवश्यकता है।  लेकिन एक और दुखद बात यह है कि यह एक तथ्य है कि प्रदूषण के माध्यम से हम आने वाली पीढ़ियों की विरासत में जहरीले पर्यावरण और असहनीय बीमारियों का शिकार हो रहे हैं।  उन्होंने कहा कि नवीनतम वैज्ञानिक खोजों के परिणामस्वरूप, लाभ की आड़ में मानव का शोषण और उनके मुनाफे के लिए प्राकृतिक संसाधनों के विविधीकरण आदि ने पूरे पर्यावरण को एक गंभीर और खतरनाक स्थिति में प्रदूषित कर दिया है।  उन्होंने कहा कि पर्यावरण में नकारात्मक बदलावों के कारण जहां हम प्राकृतिक आपदाओं का सामना करने के लिए मजबूर हैं, हम निकट भविष्य में भी दो से चार होने पर भी जीवित नहीं रह पाएंगे।  जलवायु परिवर्तन के कारण एक पक्ष जलमग्न है जबकि दूसरी ओर भारी सूखा है।  ऐसी स्थिति में पेड़ हमें सच्चे दोस्त बनने में मदद कर सकते हैं।  प्रकृति के संतुलन को बनाए रखने और पर्यावरण को स्वच्छ रखने में पेड़ महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।  उन्होंने पंचायतों से आग्रह किया कि वे अधिक से अधिक पेड़ लगाएं, दूसरों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करें और बढ़ते प्रदूषण और ग्लोबल वार्मिंग की समस्या से निपटने के लिए पेड़ पौधों को बेहतर और अधिक पूर्ण तरीके से बनाए रखें।  इस अवसर पर उपस्थित पंचायतों और संगतों ने रोपण और सेवाओं के रखरखाव का अधिकतम आश्वासन दिया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।