देवर के साथ मिलकर तड़फ़ा तडफा कर मारा था माँ ने ही अपना मासूम 
December 31st, 2019 | Post by :- | 138 Views

 

गगन ललगोत्रा (व्यूरो कांगड़ा)

 

एक दो दिन में घर से भागने के चक्कर मे थे देवर भाभी

जिला कांगड़ा के पुलिस थाना इंदौरा के अंतर्गत एक कामांध मां द्वारा अपने देवर से कथित प्रेम प्रसंग के चलते की गई 7 वर्षीय मासूम की हत्या मामले में आरोपियों को 3 दिन का पुलिस रिमांड मिलने पर पुलिस मामले की गहराई तक जा रही है। आरोपियों ने पुलिस को बताया कि उन दोनों की घर से भाग जाने की योजना थी और एकाध दिन में वे भाग जाने वाले थे। इसके लिए आरोपी युवक ने एक बिस्तर भी जंगल में छिपाकर रखा था, जिसे आज पुलिस ने उसकी शिनाख्त के आधार पर बरामद कर लिया। इसी जांच को आगे बढ़ाते हुए पुलिस सोमवार को आरोपियों को साथ लेकर पुन: घटनास्थल पर गई व साक्ष्य जुटाए। इस दौरान पुलिस को कई महत्वपूर्ण सुराग मिले हैं जो आरोपियों को कड़ी सजा दिलवाने में कारगर होंगे। उल्लेखनीय है कि दो दिन पूर्व इंदौरा के गांव पलाखी स्थित बंदयाल में पूना पत्नी बलवंत ने अपने देवर सेवा कुमार के साथ मिलकर अपने ही बेटे को निर्ममता से मौत के घाट उतार दिया था, जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था।

तड़पा-तड़पाकर मारा था मासूम, नहीं डोली ममता
जांच के दौरान दोनों आरोपियों ने गांव के अन्य लोगों के समक्ष पुलिस को बताया कि 7 वर्षीय मासूम युद्धवीर उर्फ विनय ने अपनी मां को चाचा के साथ जब आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया तो उन्होंने उसे ठिकाने लगाने की योजना बनाई व सुबह तड़के ही उसे शौच के बहाने जंगल में ले गए और उसी की टी-शर्ट से उसका गला घोंट दिया और उसे मरा समझकर अगली योजना बना रहे थे कि बच्चा जो पूरी तरह से मरा नहीं था और सिसकियां लेने लगा। जिस पर उन्होंने जंगल में ही आग जलाई व पुन: होश में लाकर पहले तो उसे आग सेंकाई फिर उन्होंने सोचा कि यदि यह बच गया तो सब कुछ बता देगा।

गले में मारने के लिए डाली गई टी-शर्ट
इस पर निर्मम मां ने उसका मुंह बंद कर एक तरफ से मां ने तो दूसरी तरफ से पकड़कर उसके चाचा ने बच्चे के गले में मारने के लिए डाली गई टी-शर्ट को तब तक खींचकर गला घोंटते रहे जब तक उन्हें उसके मरने पर विश्वास नहीं हो गया, लेकिन ऐसा करते समय कामांध मां की ममता एक बार भी नहीं डोली और उन्होंने पास ही पहाड़ी से उसे नीचे खाई में फैंक दिया। डी.एस.पी. ओंकार सिंह ठाकुर ने बताया कि पुलिस ने गांव वालों के समक्ष आज पुन: आरोपियों के बयान कलमबद्ध किए व अन्य साक्ष्य जुटाए हैं। आगामी छानबीन जारी है

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।