बस्तर का ऐतिहासिक धरोहर “दलपत सागर” को बचाने की चल रही है कवायत
August 27th, 2019 | Post by :- | 100 Views

रायपुर (नरेश गोलछा)-राजधानी रायपुर के प्रेस क्लब में  दलपत सागर बचाओ जन आंदोलन मंच के संयोजक संजीव शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि बस्तर के ऐतिहासिक धरोहर दलपत सागर का निर्माण 1772 में राजा दलपत देव ने कराया था।

उस समय दलपत सागर लगभग 800 एकड़ में एक समुद्र के रूप में फैला हुआ था, परंतु दुर्भाग्य के साथ यह कहना पड़ रहा है कि आज सिर्फ 350 एकड़ से भी कम में सिमट कर रहा गया है।

दलपत सागर बचाओ जन आंदोलन मंच के संयोजक का आरोप है कि तत्कालीन महापौर किरण देव के कार्यकाल में दलपत सागर के षड्यंत्र की शरूआत हुई और सिर्फ़ भू माफियों व बिल्डरों को लाभ पहुचाने के लिए नगर निगम के द्वारा दक्षिणी हिस्से में बंद (60 फिट रोड) का निर्माण कराया गया था, जिसकी लागत 3 करोड़ आई थी और इस 60 फिट रोड के कारण बिल्डरों और भू माफियाओं को 8 मंजिला अपार्टमेंट की अनुमति मिल गई थी।

संयोजक का आरोप है कि दलपत सागर में जलभराव की स्थिति में विराम लग गया परंतु  बंड के कारण उस क्षेत्र बाढ़ की स्थिति निर्मित हो गई और दलपत सागर दिनों दिन सूखने लगा व जलकुंभियों के कारण तेजी से विस्तार होने लगा जिसके कारण बदबूदार पानी और मछलियों की भी मरने जैसी स्थिति उत्पन्न होने लगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।