भाजपा सरकार के 2 साल के कार्यकाल में नूरपुर विधानसभा क्षेत्र के विकास कार्य पड़ें ठप अजय महाजन
December 29th, 2019 | Post by :- | 166 Views

इंदौरा (मुकेश सरमाल)

भाजपा सरकार के दो साल के कार्यकाल में नूरपुर विधानसभा क्षेत्र  विकास के मामले में पिछड़कर रह गया है । नई योजनाएं आना तो दूर की बात है जो योजनाएं कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में स्वीकृत हुई थी वे भी धरातल पर नही उतारी जा  रही हैं। यह बात नूरपुर के पूर्व विधायक अजय महाजन ने रविवार को बरंडा पंचायत में कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित करते हुए कही । उन्होंने स्थानीय विधायक पर कटाक्ष करते हुए कहा कि नूरपुर को जिला का दर्जा देने के नाम पर लगातार गुमराह किया जाता है ।

 

नूरपुर के सरकारी अस्पताल को जोनल व मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल बनाने का सपना दिखाने वाले बताए कि अस्पताल रेफरल अस्पताल बनकर रह गया है । उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में नूरपुर के चौगान में बजीर राम सिंह पठानियाँ स्टेडियम के लिए 2 करोड़ की राशि स्वीकृत हुई थी लेकिन भाजपा सरकार के शासन में एक ईंट नही लग पाई । जसूर में एसटी वर्ग के लिए करीब ढाई करोड़ की लागत से भवन बनाना प्रस्तावित था

 

लेकिन सत्ता बदलने के बाद स्थिति शून्य है । उन्होंने कहा कि नूरपुर क्षेत्र के तहत आते फोरलेन प्रभावित परिवारों की आवाज को नूरपुर के विधायक ने एक बार भी उठाना बाजिव नही समझा जिससे पता चलता है कि विधायक जनता के प्रति कितने सजग हैं  । उन्होंने कहा कि नूरपुर क्षेत्र सैंकड़ों किसानों की टमाटर की फसल तबाह हुई है । सरकार अभिलम्ब नुकसान का आकलन कर किसानों को राहत प्रदान करे ।

 

 इससे पूर्व बरंडा में पहुंचने पर सेवादल सदस्यों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया । अजय महाजन ने सेवादल के ध्वज्वन्दन ने झंडा फहराने की रस्म अदा की । इस मौके पर  सुशील मिंटू, बलदेव पप्पी , एच एल आचार्य , पुषोतम प्रकाश , राजन शर्मा ,सतविंदर सिंह , बरंडा पंचायत प्रधान संजीव जरियाल , हरि सिंह , विशाल सिंह , माया सिंह , दौलत राम , केवल जग्गी , चूहड़ सिंह , बिशम्बर सिंह , सोम सिंह , त्नत्र सिंह , राम सिंह सहित अन्य कांग्रेस कार्यकर्ता भी मौजूद रहे

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।