धार्मिक उत्पीडऩ के शिकार असंखय शरणाॢथयों के जीवन में आशा की किरण है सीएए : नायब
December 29th, 2019 | Post by :- | 70 Views

कुरुक्षेत्र, ( सुरेश पाल सिंहमार )    ।     कुरुक्षेत्र लोकसभा क्षेत्र के सांसद नायब सिंह ने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम 2019 पाकिस्तान, बांग्लादेश एवं अफगानिस्तान में धार्मिक उत्पीडऩ के शिकार करोड़ों शरणार्थियों के जीवन में आशा की एक नई किरण लेकर आया है। धर्म के आधार पर भारत विभाजन का दंश झेल रहे अगणित परिवारों को इससे नया जीवन मिलेगा। इतना ही नहीं इस देश में घुसपेटियों के लिए कोई जगह नहीं होगी।

सांसद नायब सिंह रविवार को सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि लोकसभा में पास होने के बाद माननीय राष्ट्रपति की मोहर लगने के बाद सीएए एक  एकट बन गया है। लेकिन कांग्रेस व विपक्षों दलों ने देश की जनता को गुमराह करने का काम किया है। नागरिकता संशोधन अधिनियम से किसी की भी नागरिकता को खतरा नहीं है। विपक्षी दलों ने देश में एक ऐसा माहौल तैयार करने का प्रयास किया कि इस अधिनियम से किसी एक समुदाय की नागरिकता को खतरा पैदा हो गया है। सीएए को लेकर कांग्रेस ने दूसरे के हाथों से देश की संपति को नुकसान पहुंचाने का काम किया है और देश में भाईचारे की भावना को ठेस पहुंचाने का काम किया है।

सांसद ने कहा कि देश के विभाजन के समय सभी देशों की सरकार के एक समझौता हुआ था कि अल्प संखयकों की जिममा सरकार को लेना होगा। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने भी कहा था कि शरणार्थियों को भारत में नागरिकता मिलेगी। विभाजन के समय पाकिस्तान में 23 प्रतिशत संखया हिंदूओं की थी जो अब केवल 3 प्रतिशत रह गई है। जबकि भारत में मुस्लमान समुदाय की संखया बढक़र 24 प्रतिशत हो गई है। उन्होंने कहा कि पडौसी देशों में अल्पसंखयकों को अत्याचार हुए और इन लोगों को नागरिकता देने का प्रस्ताव ही नागरिकता संशोधन अधिनियम के रूप में लाया गया है। इन उत्पीडि़त, वयकत एवं निराश्रित लोगों को गले लगाकर वसुधैव कुटुंबकम का प्राचीन भारतीय परपंरा के अनुसार यह निर्णय निश्चित ही एक गौरवपूर्ण भारत की परिकल्पना को चरितार्थ करता है। इस निर्णय से हर भारतीय का मस्तिष्क ऊंचा हुआ है।

संासद ने कहा कि देश के अनेक चिरलंबित समस्याओं जिसमें धारा 370, राम जन्म मंदिर का मुद्दा शामिल है, का अत्याधिक कुशलता से समाधान करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आने वाले समय में जाना जाएगा। इन समस्याओं के समाधान के लिए दृढ़ राजनैतिक इच्छाशञ्चित, अटूट प्रतिहबद्धता, पूर्ण समर्पण, दूरदर्शिता तथा हृदय में राष्ट्र सर्वोपरि की भावना की आवश्यकता थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करिश्माई एवं दूरदर्शी नेतृत्व में जिस प्रकार से इन समस्याओं का समाधान निकला गया है, उससे यह कहने में अब संशय नहीं हैै कि देश प्रगति एवं विकास के पथ पर अब बढ़ चला है।

उन्होंंने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम ऐतिहासिक गलतियों को सुधाराने वाला है तथा पाकिस्तान, बांग्लादेश एवं अफगास्तिान के पीडि़त अल्पसंखयकों को बड़ी राहत देने वाला है। कांग्रेस एवं उनके सहयोगी दलों ने जिस प्रकार से विधेयक का विरोध करने का प्रयास किया है उससे इन दलों की वोट बैंक एवं तुष्टीकरण की राजनीति पुन: बेनकाब हुई है। भाजपा के जिला अध्यक्ष धर्मवीर मिर्जापुर ने सभी स्वागत किया और सीएए पर प्रकाश डाला। इस मौके पर जिला परिषद के चेयरमैन गुरदयाल सुनहेड़ी, भाजपा के वरिष्ठ नेता धर्मवीर डागर, सुशील राणा, सुरेंद्र माजरी, विनित कवात्रा, संदीप सैणी, राजेंद्र सहित भाजपा के अन्य नेता  व गणमान्य लोग मौजूद थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।