साहिबजादों की याद में खालसा यूथ क्लब ने रखवाया सुखमनी साहब का पाठ
December 28th, 2019 | Post by :- | 83 Views
साहिबजादों की याद में खालसा यूथ क्लब ने रखवाया सुखमनी साहब का पाठ।
— सैक्टर 7 पंचकूला के गुरुद्वारा सिंह सभा मे हुआ आयोजन, प्रधान विपिनप्रीत ने संगत का किया अभिनन्दन।
— एनएसयूआई में राष्ट्रीय संयोजक दीपांशु बंसल भी विशेष रूप से पहुंचे।
पंचकूला-(चन्द्रकान्त शर्मा)।
सेक्टर 7 पंचकूला के गुरुद्वारा सिंह सभा में खालसा यूथ क्लब पंचकुला की तरफ़ से चार साहिबजादों की याद में श्री सुखमनी साहिब का पाठ करवाया गया जिसमे एनएसयूआई में राष्ट्रीय संयोजक दीपांशु बंसल भी विशेष रूप से चार साहिबजादों को स्मरण करने पहुंचे। क्लब द्वारा आयोजित पाठ में शहर के युवा काफी संख्या में उपस्थित रहे। खालसा क्लब के प्रधान विपिनप्रीत सिंह ने बताया की पाठ रखवाने का मुख्य कारण था की यूथ को साहिबज़ादों और माता गुजरी जी के जीवन काल और उनकी शहादत के बारे में अवगत करवाया जा सके जिससे बलिदान और त्याग की भावना बढ़ सके। दीपांशु बंसल ने कहा कि साहिबजादों के बलिदान को भुलाया नही जा सकता और लाला टोडरमल के साहस और त्याग को भी स्मरण रखना जरूरी है जिन्होंने साहिबजादों के लिए जमीन पर सोना बिझा दिया था।साथ ही युवा वर्ग इतिहास की जानकारी से परे है जबकि इतिहास का पता होना जरूरी है जिससे धरोहर को कायम रखा जा सके। बंसल ने क्लब द्वारा आयोजित पाठ के कार्यक्रम की सराहना की और कहा कि समाज मे युवाओ को प्रेरित करने के लिए ऐसे कार्यक्रमो का आयोजन होना आवश्यक है व यह एक अच्छी पहल है।
मौजूद टीम के सदस्यों ने कहा की आज के यूथ को इतिहास के बारे में पता होना ज़रूरी है क्योंकि इनकी शहादत देश और क़ौम दोनों को बचाने में सहायक रही है। वहीं टीम के उप प्रधान प्रभजोत सिंह ने बताया की आज के समागम में पाठ के साथ-साथ साहिबज़ादों के इतिहास को भी विस्तार से बताया गया और गुर्बानी कीर्तन भी करवाया गया। इस मौक़े पर टीम के सभी सदस्यों ने सेवा निभाई और आई हुई सारी संगत का धन्यवाद किया। प्रधान विपिन ने कहा कि यह सारा समागम सेक्टर-7 गुरुद्वारा कमेटी के सहयोग के साथ सफल हुआ। इस मौक़े पर साहिब सिंह, गुरप्रीत सिंह, चेतन सिंह, गुरवीन सिंह, इशनित सिंह, रुचि कपूर, इंदरप्रीत कौर, भूपिंदर कौर, तालिब खान, हैप्पी,ज्ञान सिंह, शुभम कौशल व टीम के सभी सदस्य और संगत मौजूद रही।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।