पुलिस अधीक्षक श्रावस्ती द्वारा दिए गए निर्देश
December 28th, 2019 | Post by :- | 153 Views

श्रावस्ती, नितिश कुमार तिवारी

पुलिस अधीक्षक श्रावस्ती द्वारा दिए गए निर्देश के क्रम में  प्रभारी निरीक्षक द्वारा चौकी बदला तथा हरदत्त नगर गिरंट एवं एस एस आई  राजकुमार पांडे द्वारा जमुनहा पुलिस चौकी पर पीस कमेटी की बैठक कर पंपलेट जनता में बांटा गया

तथा लोगों को नागरिकता संशोधन  अधिनियम के बारे में जानकारी  देते हुए विगत समय में शांति व्यवस्था में दिए गए सहयोग के प्रति आभार व्यक्त किया गया तथा कल जुम्मा की नमाज को दृष्टिगत रखते हुए अन्य समय पर इसी प्रकार सहयोग बनाए रखने की अपील की।

नागरिता संशोधन अधिनियम के बारे में जमुनहा पुलिस चौकी के प्रांगण में शांति कमेटी की बैठक की गई। सभी मदरसों व मस्जिदों के इमाम, मौलाना और सम्भ्रांत लोगो को बुलाया गया जो शुक्रवार में नमाज अदा किया जाए। जिसकी अध्यक्षता मल्हीपुर थाना एस0एस0आई0 राजकुमार पांडेय ने किया जिसमें (CAA) 7 बिंदुओं के बारे मे बताया

यह कानून सिर्फ नागरिता देने के लिए है। किसी की नागरिकता छिनने का अधिकार इस कानून में नही है।भारत के अल्पसंख्यको विशेष कर मुसलमानों का CAA से कोई अहित नही है।

CAA से देश के नागरिकों की नागरिकता पर कोई प्रभाव नही पड़ेगा।यह कानून किसी भी भारतीय हिन्दू, मुसलमान आदि को प्रभावित नही करेगा।

इस अधिनियम के तहत पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में धार्मिक उत्पीड़न के कारण वहाँ से आये हिन्दू, ईसाई, सिख, पारसी, जैन और बौद्व धर्म को मानने वाले शरणर्थियो को भारत की नागरिकता दी जाएगी, जो 31 दिसम्बर, 2014 से पूर्व ही भारत मे रह रहे हो तथा जो  केवल इन तीन देशों से धर्म के आधार पर प्रताड़ित किये गये हों।

अभी तक भारतीय नागरिकता लेने के लिए 11 वर्ष भारत मे रहना अनिवार्य है।यह कानून केवल उन लोगो के लिए है, जिन्होंने वर्षो से बाहर उत्पीड़न का सामना किया और उनके पास भारत आने के अलावा और कोई जगह नही है।

सभी मदरसा, मस्जिदों के मौलाना, इमाम, व सम्भ्रांत लोगो को जुमा की नमाज़ शांतिपूर्ण रूप हो जाए किसी भी अराजकता से बचे। जो जवानों द्वारा कैम्प कराया जा रहा है। अगर कानून के उल्लंघन करते मिले जिसमें किसी को बक्सा नही जाएगा।

सभी लोगो को पम्पलेट को दिया गया है। मौके पर जमुनहा पुलिस चौकी प्रभारी उपनिरीक्षक रजनीश शुक्ल, इबरार अहमद राजू, सन्तोष जायसवाल, अजहर आलम, हफीज अब्दुल लतीफ, अब्दुल मोहिद, हफीज मोहम्मद इरशाद, मौलाना मेराज आदि लोग उपस्थिति रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।