जिद और जुनून से मिली सफलता : कपिल अहलावत सारा जीवन पढ़ाई में लगाकर बना DSP
December 28th, 2019 | Post by :- | 787 Views

बहादुरगढ़ लोकहित एक्सप्रेस ब्यूरो चीफ (गौरव शर्मा)

*परिवार की दौलत रुपया नहीं, केवल शिक्षा : कपिल अहलावत

*कपिल अहलावत के डीएसपी नियुक्ति पर हुआ सम्मान समारोह, किया भव्य स्वागत

*बैंक असिस्टेंट मैनेजर कपिल अहलावत बना डीएसपी

किसी मूल्यवान लक्ष्य तक पहुंचने में असफलता एक मार्गदर्शक की तरह काम करती है। यदि वर्तमान असफलता से कुछ सीख सकते हैं तो जीवन में बहुत बड़ी-बड़ी सफलताएं आपका इन्‍तजार कर रही हैं। सफलता के लिए जुनून चाहिए यह कहना हैं 33 वर्षीय नवनियुक्त डीएसपी कपिल अहलावत का। उन्होंने बताया कि एचसीएस में डीएसपी पद पर उनका चयन हुआ हैं। यह उनका लगातार एचसीएस का तीसरा इंटरव्यू था। अपने लक्ष्य निर्धारित करते हुए वह एचसीएस में डीएसपी पद पर चयनित हुआ।

कपिल अहलावत ने बताया कि उनके पिता रामकिशन अहलावत केमिकल एंड फर्टिलाइजर रिटायर्ड सेक्शन ऑफिसर हैं। उनकी माता सुदेश ग्रहणी हैं। उनसे छोटी दो बहनें है। उनकी पहली बहन मोनिका पंजाब नेशनल बैंक में सीनियर मैनेजर हैं। दूसरी बहन पूजा पीजीटी बायलॉजी अध्यापक हैं। उनकी पत्नी निशी टीसीएस बैंगलोर में सीनियर कन्सल्टेंट है।

उन्होंने बताया कि वह शुरू से ही सोनीपत रहे और अपनी शिक्षा शिवा सदन स्कूल से नर्सरी से 12वीं (मेडिकल एंड नॉन मेडिकल) 2004 तक पढ़ाई की। उन्होंने 2009 में बायोमेडिकल इंजीनियरिंग की डिग्री मुरथल से की। उसके बाद एमबीबीएस के लिए तैयारी की थी लेकिन वह काउंसिलिंग में नहीं पहुँच पाने की वजह से उनका एडमिशन नही ही पाया। 2010 से 2019 तक एचसीएस, यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी की। 2013 में उनका यूको बैंक में सेलेक्शन हुआ लेकिन अपने लक्ष्य प्राप्ति के लिए पढ़ाई जारी रखते हुए बैंक की जॉब की। अब एचसीएस क्वालीफाई हुआ और डीएसपी पद पर चयन हुआ हैं। कपिल अहलावत ने कहा कि उनका सारा जीवन पढ़ाई में समर्पित हुआ हैं, अब इसका फायदा समाज को होगा। घर पर आयोजित सम्मान समारोह में नवनियुक्त डीएसपी कपिल अहलावत का फूल-माला पहनाकर भव्य स्वागत किया गया।

*मेहनत व लगन सफलता की कुंजी : कपिल अहलावत

नवनियुक्त डीएसपी कपिल अहलावत ने कहा कि किसी भी परीक्षा की तैयारी के लिए परिश्रम, लगन, मेहनत व प्रयास जरूरी है। आपका संकल्प दृढ़ होगा, तो आपको मंजिल जरूर मिलेगी। उन्होंने कहा कि परीक्षा का कोई शॉर्ट कट नहीं होता है। परीक्षा में समय बहुत अधिक महत्वपूर्ण होता है। लिखित परीक्षा के लिए आप लिखने की तैयारी करें। किसी भी व्यक्ति को मंजिल तक पहुंचने के लिए परिश्रम की आवश्यकता होती है, लेकिन एक ही बार में वह सफल हो जाये, ऐसा कभी-कभी होता है। लेकिन विद्यार्थी का संकल्प ही उसे मंजिल तक पहुंचा सकता है।

*युवा शराब छोड़कर करे पढ़ाई का नशा : कपिल अहलावत

कपिल अहलावत ने कहा कि आज के युवा शराब, स्मोकिंग इत्यादि का नशा करके अपना जीवन बर्बाद कर रहे हैं, जो दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि आज के युवाओं को पढ़ाई का नशा करना चाहिए जिससे वह अपने साथ-साथ समाज का उत्थान भी कर पायेंगे। इस अवसर पर जिप. चैयरमैन सोनू सोलधा, जिला अध्यक्ष बिजेंद्र दलाल, भाजपा नेता राजपाल शर्मा, जयपाल सरोहा, अनिल सिंगल, सतबीर चौहान, परमिंदर जांगड़ा, बिजेंद्र पुनिया, नरेंद्र लोहचब, विजय शेखावत, जयभगवान, कृष्ण, सुनीता, विजय कुमार, युवान्स, प्रदीप सिन्हा आदि मौजूद रहें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।