छोटे साहिबजादों व माता गुजरी की याद में दोसड़का गुरुद्वारा साहिब में कीर्तन दरबार का आयोजन
December 27th, 2019 | Post by :- | 212 Views

मुलाना, 27 दिसंबर  (जयबीर राणा थंबड़)
श्री गुरुगोबिंद सिंह जी के छोटे साहिबजादे बाबा जोरावर सिंह, बाबा फतेह सिंह व माता गुजरी कौर जी की याद में गुरुद्वारा बाबा जोरावर सिंह बाबा फतेह सिंह दोसड़का में आयोजित  तीन दिवसीय शहीदी जोड़ मेले के अंतिम दिन दोसड़का गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी तथा क्षेत्र की साध संगत के सहयोग से विशाल कीर्तन दरबार का आयोजन किया गया। जिसमें सिख कौम के प्रसिद्ध ढ़ाडी जत्थे भाई जसंवत सिंह प्रेमी पटियाले वाले  , सचखंड वासी भाई बलवंत सिंह प्रेमी नाभे वाले व कथावाचको द्वारा कीर्तन के माध्यम से संगत को निहाल किया। वहीं हजारों श्रद्धालुओं ने गुरु ग्रंथ साहिब  जी की पावन हजूरी में मत्था टेक अरदास की ।  भाई हरनाम सिंह श्री दरबार साहिब अमृतसर वाले  ने संगत को बड़े साहिबजादों व छोटे साहिबजादों की शहादत संबंधी इतिहास विस्तारपूर्वक सुनाया।  उन्होंने कहा कि सामाजिक बुराइयों से दूर रहते हुए संगत को गुरुवाणी का जाप करने तथा गुरुओं के बताए गए मार्ग पर चलना चाहिए। इस दौरान जो बोले सो निहाल-सत श्री अकाल के जयघोष से माहौल भक्तिमय हो गया। रागी जत्थों ने अपने भजनों के द्वारा संगत का मन मोह लिया। प्रबंधक कमेटी द्वारा रागी जत्थों व कथावाचकों को स्मृति चिन्ह देकर स मानित किया ।

विशाल कीर्तन दरबार व मेले में पंहुचे हजारों श्रद्धालुओं के लिए अटूट लंगर आयोजित किया गया । जिसमें हजारों श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।