लगातार बढ़ते हुए कोहरे को देखते हुए यातायात पुलिस पलवल ने जारी किए महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश।
December 27th, 2019 | Post by :- | 78 Views

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट):- जिले मे दिन-प्रतिदिन चल रही सर्द हवा के वजह से बढ़ रही ठंड ने जन जीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया है। इसी के साथ ही कोहरे की मार से भी लोगों की दिनचर्या चरमरा गई है, लोगों को अपने गंतव्य तक पहुंचने में घंटो का समय तो लग ही रहा है कि बल्कि सडक़ दुर्घटनाएं होने का खतरा भी पुरी तरह बना हुआ है।

फिलहाल जिला पलवल के क्षेत्र में एनएच-19 को छह मार्गीय बनाने का कार्य भी प्रगति पर है, जिसकी वजह से वाहनों को डायवर्ट कर सर्विस रोड़ से गुजारा रहा है। जिसके चलते यातायात प्रभारी रविंद्र द्वारा वाहन चालक व आम जनमानस को प्रतिदिन शहर के व्यस्तम चौक-चौराहों पर यातायात के प्रति जागरुक किया जा रहा है तथा हर चौक-चौराहे पर चार-पांच पुलिस कर्मियों की अतिरिक्त ड्यूटी भी लगाई हुई है।

यातायात थाना प्रभारी उप निरीक्षक रविंद्र कुमार का कहना है कि इस कंपकपा देने वाली सर्दी व घने कोहरे के चलते वाहन चालकों को महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश दिए जा रहे है जिससे की उनका सफर सुहाना रहे और किसी प्रकार की कोई अप्रिय घटना न हो। यातायात पुलिस पलवल द्वारा प्रतिदिन सफर करने वाले वाहन चालकों से सुरक्षा के मध्य नजर अपील भी की जा रही है।

वाहन चालक इन बातों का रखें विशेष ध्यान:-

  1. कोहरे में गाड़ी चलाते समय दिन में भी पार्किंग लाईट जलाकर चलें,
  2. हमेशा फॉग लाईट का इस्तेमाल करें,
  3. गाड़ी के अंदर डी फॉगर का इस्तेमाल करें,
  4. गाड़ी धीरे चलाएं व बेवजह ओवरटेक न करें,
  5. अति आवश्यक कार्य के लिए ही सफर पर जाएं, रात्रि और सुबह सवेरे जल्दी सफर पर न निकलें,
  6. परिवार के सभी सदस्य एक साथ सफर पर न जाएं,
  7. सामने चलने वाली गाड़ी से आवश्यक दूरी बनाकर चलें,
  8. हाइवे पर सडक़ किनारे पट्टी का ध्यान रख कर चले, गाड़ी बीच में चलाने से ऐक्सिडेंट की पूरी सम्भावना रहती है इसके लिए रियर व्यू मिरर पर ध्यान दें,
  9. सभी यात्री सीट बेल्ट अवश्य लगाए क्योंकि आपके ऐयर बैग आवश्यकता पडऩे पर तभी खुलेंगे,
  10. लिंक रोड़ से आने वाली गाडियों पर ध्यान देकर बचाव करें,
  11. हाईवे पर फ्लाईओवर पर गाड़ी कभी न रोकें
  12. गाड़ी में फ्सट ऐड बॉक्स जरुर रखें।

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।