हिमाचल हरियाणा बॉर्डर पर स्क्रैप गोदाम के मालिक से गन पॉइंट पर लूटे 20 हजार रुपए
December 25th, 2019 | Post by :- | 65 Views


– पुलिस टीम पर फायरिंग कर फरार हुए लुटेरे..

– सिंगर परमिश वर्मा पर हमले हमने ही गोलियां चलवाई थी 50 हजार दे दो नहीं तो गोली मार देंगे गोदाम के मालिक को दी धमकी….

हिमाचल हरियाणा बॉर्डर पर स्थित मढावाला में गन पॉइंट पर लूट का मामला सामने आया है।  मढावाला में स्क्रैप गोदाम के मालिक को तीन लुटेरों ने गन प्वाइंट पर लेकर पहले तो व्हाट्सएप पर किसी से वीडियो कॉलिंग करवाई गई। उसे धमकी दिलाएगी की पंजाबी सिंगर परमिश वर्मा को हमने ही गोलियां मरवाई थी, तो 50 हजार रुपए इन्हें दे दो। अगर ऐसा ना किया तो यह लोग तुम्हें भी गोली मार देंगे। फिर यहां से 20 हजार रुपए लूटने के बाद लुटेरे तुरंत निकल गए। जब पुलिस आई तो दोबारा चक्कर लगाने आ गए। पुलिस ने उनका पीछा किया तो पुलिस टीम पर फायरिंग कर फरार हो गए। दरअसल लुटेरों की गाड़ी का टायर एक नाली में फस गया। पुलिस नजदीक पहुंची तो लुटेरों ने फायरिंग शुरू कर दी। गोदाम मालिक पुरषोतम ने बताया कि मंगलवार को यह ऑफिस में बैठे थे। इसी दौरान तीन लोग ऑफिस में आए। उनके हाथ में रिवाल्वर या पिस्टल थी। उन्होंने आते ही 50 हजार रुपए की डिमांड की।  उनमें से एक ने मोबाइल निकाल कर किसी से वीडियो कॉलिंग पर बात करवाई। उन्हें बात करने के लिए कहा जब बात करने लगे तो कॉलिंग पर मौजूद शख्स ने बताया कि बताया कि पंजाबी सिंगर परमेश वर्मा पर भी उसने ही गोलियां चलाई थी। अगर पैसे नहीं दिए तो ये लोग तुम्हें भी गोली मार देंगे। परसोत्तम ने कहा कि उसके पास तो 20 हजार रुपए ही है और वह 20 हजार रुपए लेकर निकल गए। पुलिस ने लुटेरों की गाड़ी को कब्जे में ले लिया है। गाड़ी का नंबर भी नहीं है। लेकिन कार में से कैश एक मोबाइल एक रिवाल्वर बरामद हुई है। वारदात की जानकारी मिलते ही मौके पर डीएसपी पंचकूला कमलदीप, एसपी कालका रमेश गुलिया, पिंजोर थाना प्रभारी एयर क्राइम ब्रांच की टीमें मौके पर पहुंची। सूत्रों के अनुसार यह मामला जबरन वसूली से जुड़ा हुआ है क्योंकि पहले भी गोदाम मालिक को धमकाया गया था। व्हाट्सएप पर जिस गैंगस्टर से बात कराई थी वह अभी जेल में है। यहां से मिले मोबाइल से पुलिस को 8 मोबाइल नंबर मिले हैं। जिन पर कालिंग की गई है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।