हरियाणा बाल कल्याण परिषद द्वारा आयोजित बाल महोत्सव में मेवात की चंगेरी और डलिया ने मचाई धूम।
December 25th, 2019 | Post by :- | 121 Views

मेवात(सद्दाम हुसैन) हरियाणा बाल कल्याण परिषद द्वारा आयोजित गुडगांव में बाल महोत्सव में मेवात के जिला बाल कल्याण परिषद द्वारा चलाए जा रहे कौशल विकास केंद्रों में बच्चों के द्वारा बनाई गई चंगेरी और डलिया सहित अन्य वस्तुओं ने जमकर धूम मचाई। इस दौरान बाल महोत्सव में आए हजारों लोगों ने मेवात बाल विकास परिषद द्वारा लगाए गए स्टॉल पर आकर मेवात की गेहूं की तने से बनी चंगेरी और डलिया को खूब सराहा और लोगों ने इनकी खरीदारी भी की। इस दौरान जिला कौशल विकास केंद्रों की अध्यापिकाओं ने अपने स्टाल पर आए लोगों का सम्मान करते हुए, उनको इन सभी वस्तुओं की पूरी जानकारी देने के साथ-साथ उन्हें बेचा भी। जिससे उनकी मेले के अंदर जमकर सराहना हुई। आपको बता दें कि मेवात के जिला बाल कल्याण अधिकारी कमलेश शास्त्री के दिशा निर्देश पर कौशल विकास केंद्रों में महिला ट्रेनरों द्वारा अपने अपने बच्चों से विभिन्न प्रकार की वस्तुएं बनाने का आदेश दिया था और जिन्हें हरियाणा बाल कल्याण परिषद द्वारा आयोजित बाल महोत्सव मेले में स्टाल लगाकर प्रदर्शनी करने व उन्हें बेचने के लिए दिशा निर्देश देते हुए तैयार कराया गया था।

इस दौरान गुड़गांव किंगडम ऑफ ड्रीम्स में बाल महोत्सव का आयोजन किया गया और हरियाणा के सभी जिलों से जिला बाल कल्याण की ओर से अपनी-अपनी स्टाल लगाकर अपने-अपने जिले में तैयार की गई वस्तुओं की प्रदर्शनी करने के साथ-साथ मेले में आए लोगों के लिए खरीदारी के लिए लगाया गया। इस दौरान जैसे ही कोई अधिकारी और मेले में आया हुआ व्यक्ति जब मेवात की स्टाल पर पहुंचता तो उन्हें मेवात की चंगेरी और डलिया ने अपनी ओर आकर्षित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। जिससे लोगों ने मेवात की गेहूं के तने से बनी हुई चंगेरी और डलिया की जमकर सराहना की।

मेवात के जिला बाल कल्याण अधिकारी कमलेश शास्त्री का कहना है कि उनके द्वारा तैयार कि गई सभी वस्तुओं की सराहना हुई है और मेवात में ज्यादा से ज्यादा जिला बाल कल्याण परिषद द्वारा बच्चों को कौशल विकास केंद्र के द्वारा आगे लगाए जाए, इसके लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं। और सभी कौशल विकास केंद्रों पर बच्चों को उनके अंदर सोए हुए हुनर को जगाना और उन्हें उनकी प्रतिभा के प्रति सजग करना ही उनका मुख्य लक्ष्य है। जिसमें वह लगातार सफल हो रहे हैं और उन्होंने बताया कि जल्द ही मेवात के अंदर तीन बाल भवन बनकर तैयार होने वाले हैं ।जिससे बच्चों को और आगे लाने में आसानी होगी । उन्होंने कहा कि इस मेले में मेवात के दर्जन भर स्कूलों से बच्चे मेले का भ्रमण करने पहुंचे। जिन्हें पहली बार ऐसे मेले में घूम कर काफी अच्छा लगा और उन्हें इस मेले के अंतर्गत काफी कुछ सीखने को मिला है। जिनके लिए वहां पर सर्कस व अन्य प्रदर्शनी के माध्यम से आगे ले जाने का प्रयास किया गया है। उन्हें उम्मीद है कि आगे भी मेवात के सभी स्कूलों से ऐसे मेले में बच्चे भ्रमण कर अपने आपको गौरवान्वित महसूस करेंगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।