गांव जनौली में बेटी कुदरत का उपहार इसको दो जीने का अधिकार को लेकर किया बच्चों ने पैदल मार्च
December 23rd, 2019 | Post by :- | 183 Views

पलवल/ प्रवीण आहूजा

गांव जनौली के राजकीय उच्च विद्यालय (बाल) में बच्चों के द्वारा निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया इस अवसर पर बच्चों के द्वारा हाथों में स्लोगन लेकर बेटी कुदरत का उपहार इसको दो जीने का अधिकार व बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा लेकर गांव में स्थानीय ग्रामीणों को एक अच्छे संदेश के लिए पैदल मार्च भी किया गया। यह जानकारी देते हुए स्कूल के मुख्याध्यापक देवेंद्र कुमार ने बताया कि यूं तो स्कूल में इस तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रम समय-समय पर किए जाते रहे हैं । लेकिन इस बार विशेष रूप से बेटियों को लेकर स्कूल के सभी अध्यापक पर स्कूल के बच्चों ने मिलकर हाथों में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ एक आदर्श मां-बाप कहलाओ का नारा बुलंद करते हुए गांव  में पैदल यात्रा की गई उन्होंने बताया कि बेटियां आज बेटे के बराबर है कभी भी इसमें फर्क नहीं करना चाहिए ।

उन्होंने बताया वैसे तो बेटियों ने पूरे हिंदुस्तान का नाम विश्व में रोशन किया हुआ है विशेषकर हरियाणा की बेटियों ने तो बहुत अच्छा नाम रोशन किया हुआ है। उन्होंने बताया कि स्कूल के सभी बच्चों ने मिलकर आज निबंध प्रतियोगिता भी करी जिसमें उन्होंने तरह-तरह के निबंध लिखकर प्रथम द्वितीय व तृतीय की श्रृंखला में आकर स्कूल के अध्यापकों के द्वारा उन्हें पुरस्कार भी दिया गया इसके अलावा बच्चों ने राष्ट्रीय गान गाकर पूरा माहौल देशभक्ति के जैसा बना दिया। साथ ही उन्होंने पोस्टर मेकिंग व स्पीच कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया। इस अवसर पर बच्चों ने कड़ाके की ठंड के बावजूद भी अपना हौसले को बुलंद रखते हुए संस्कृति कार्यक्रम में बढ़चढ़ कर लिया इस अवसर पर स्कूल के अध्यापक देवेंद्र कुमार ओमप्रकाश, हाकिम सिंह रावत, महेंद्र सिंह, निकेश भारद्वाज, हरदत्त शर्मा, कपिल देव रंगा, हरेंद्र मंगला, सीमा रानी, विजय मालिक, संतोष, किरण आदि मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।