कृष्ण कौशल को दून भाजपा का उपाध्यक्ष बनने पर बद्दी में खुशी का माहौल
December 22nd, 2019 | Post by :- | 117 Views

भारतीय जनता पार्टी दून मंडल ने अपनी कार्यकारिणी का विस्तार करते हुए बद्दी के वार्ड नंबर दो निवासी व भाजपा के कर्मठ नेता कृष्ण कृष्ण कौशल को उपाध्यक्ष नियुक्त किया है। उनकी इस नियुक्त से बद्दी में खुशी का माहौल बना हुआ है। बद्दी के लाज मोटर्स में रविवार को लड्डू बांटे गए।

कृष्ण कौशल ने अपने इस मनोनयन पर विधायक परमजीत सिंह प मी, गौ सदन आयोग के उपाध्यक्ष अशोक शर्मा, जल प्रबंधन बोर्ड के उपाध्यक्ष दर्शन सिंह सैणी, पूर्व विधायक विनोद चंदेल, मंडल अध्यक्ष बीएस ठाकुर,  हंसराज चंदेल  का अभार जताते हुए कहा कि उन्हे जो जि मेदारी सौंपी है,  उसे ईमानदारी से पूरा करने का प्रयास किया जाएगा। प्रेस को जारी बयान में कहा कि केंद्र व राज्य सरकार की जन कल्याण कारी नीतियों को जमीनी स्तर पर पूरा करने के प्रयास किया जाएगा। दून में जन संपर्क अभियान चलाया जाएगा जिसके तहत  और लोगों को भाजपा में जोड़ा जाएगा। दून के उन क्षेत्रों में विकास की लौ पहुंचाई जाएगी जहां पर अभी तक विकास नहीं हुआ है वहां पर मूलभूत सुविधाएं प्रदान करने का प्रयास होगा।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार का दो साल का कार्यकाल काफी सराहनीय रहा है कि इन दो सालों में भाजपा सरकार ने दलगत राजनीति से ऊपर उठ कर सभी वर्गो का विकास किया है। इससे प्रदेश विकास के पथ पर अग्रसर है। कृष्ण कौशल ने कहा कि संशोधित नागरिकता कानून मुसलिम विरोधी नहीं है। हमारी संस्कृति हमें नफरत करना नहीं सिखाती है। नागिरकता अधिनियम के अनुसार पाक, बंगला देश और अफगानिस्तान से 31 दिसंबर 2014 तक से यहां आए हिंदु, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और इसाई समुदायों के सदस्य जिन्हें वहां  पर धार्मिक उत्पीडन  का सामना करना पड़ा था उन्हें यहां पर अवैध प्रवासी नहीं माना जाएगा। और उन्हें भारतीय नागरिकता प्रदान की जाएगी। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लिए गए जन कल्याणकारी फैसले गिनाए जिसमें अनुछेद 370 को समाप्त करना, नागरकिता संशोधन कानून, तीन तलाक कानून तथा पाक में पनपने वाले आतंक पर भारत की ओर से कई गई कार्रवाई शामिल है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।