सीजन की पहली धुंध में लुढ़का पारा , जानलेवा ठंड से बचने के लिए अलाव ही सहारा। स्कूलों की छुट्टी की मांग उठी
December 21st, 2019 | Post by :- | 61 Views
नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  । कड़ाके की ठंड जारी है। ठंड ने उस समय लोगों की मुसीबत ओर बढ़ा दी , जब शुक्रवार को सीजन की पहली धुंध पड़ी। विजिबिलिटी कम होने के कारण वाहन चालकों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। पारा शुक्रवार को दिन  के समय में भी 9 डिग्री सेल्सियस पर अटक गया। जानलेवा ठंड में गर्म कपड़ों के साथ – साथ अलाव ही एकमात्र उपाय है। कड़ाके की ठंड के चलते लोग भी बाजारों में कम ही दिखाई पड़ रहे हैं।
आपको बता दें कि कुछ दिन पहले इलाके में भारी ओलावृष्टि हुई थी , जिसके बाद लगातार ठंड लोगों की मुसीबत बढ़ा रही है। तेज हवा और गलन के साथ – साथ सूर्य देवता के भी दर्शन लोगों को नहीं हो रहे हैं। बुधवार के दिन जरूर थोड़ी धूप दिखाई दी तो लोगों ने राहत की सांस ली। सर्दी  जारी है , लेकिन नन्हें बच्चे अभी भी जानलेवा ठंड में स्कूल जा रहे हैं। कई जगहों पर ठंड के चलते स्कूलों की छुट्टी कर दी गई हैं , लेकिन नूह जिले में अभी स्कूल खुले हुए हैं। सर्दी का तांडव अगर इसे तरह जारी रहा तो जिला प्रशासन स्कूलों की छुट्टी का एलान कर सकता है। मकानों का निर्माण करने वाले मजदूरों को मजदूरी के सर्दी की वजह से लाले पड़ रहे हैं , तो झुग्गी – झोंपड़ी में रात बिताने वाले गरीबों की जान पर बन आई है। इंसान के लिए भले ही ठंड नुकसानदायक  गेंहू की फसल के लिए इसे गुणकारी माना जा रहा है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।