राष्ट्रीय राजमार्ग 19 पर बनाए जा रहे अंडरपास को लेकर ग्रामीणों ने किया रोष प्रदर्शन
December 20th, 2019 | Post by :- | 127 Views

पलवल/ प्रवीण आहूजा :   राष्ट्रीय राजमार्ग 19 पर गांव बहरोला के पास राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के द्वारा बनाए जा रहे अंडरपास को लेकर स्थानीय ग्रामीण लोगों ने रोष प्रकट किया और नारेबाजी करते हुए बताया कि जहां पर अंडरपास बनाया जा रहा है गांव ऑटोहा के मोड़ पर पहले से ही एक अंडरपास राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के द्वारा बनाया गया हुआ है। अगर दूसरा बनाना ही था तो उसी पुल को पहले से ही बड़ा और चौड़ा करके बनाया जा सकता था जो कि आज की स्थिति में लागत को देखते हुए काफी खर्चा होगा और वह पैसा भी जनता की जेब से जाता है गांव बहरौला निवासी विनोद फागना ने हमारे संवाददाता को बताया इसके बनाने से आसपास के गांव वालों को काफी नुकसान होगा अगर यह बनाना है तो यह पुलिस लाइन के सामने बनाया जाए जहां से पुलिस लाइन को भी सुविधा मिलेगी साथ ही पुलिस लाइन के नजदीक शुगर मिल में आने जाने वालों का भी रास्ता सुगम होगा। उन्होंने बताया कि इसके बारे में राष्ट्रीय राजमार्ग के द्वारा ना तो किसी सूचना दी गई है ना ही गांव के सरपंच को बताया और ना ही क्षेत्र के विधायक को उसके बारे में जानकारी दी गई ।

उन्होंने बताया स्थानीय प्राधिकरण के अधिकारी इसकी ड्राइंग के बारे में भी कोई जानकारी नहीं दे पा रहे हैं कि कैसे बनाया जाएगा और क्यों बनाया जा रहा है। इस मामले को लेकर गांव के लोगों ने मिलकर जिले के उपायुक्त को भी एक लिखित ज्ञापन दिया जा चुका है और उनसे मांग भी करि है कि शीघ्र ही बनने से रोका जाए ताकि जो पैसा इस अंडरपास फुल में लगाया जा रहा है वह कहीं और भी लगाया जा सकता है। इस पुल के बनने से स्थानीय लोगों को आने जाने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ेगा साथ ही इसके बगल में पहले से ही गांव ऑटोहा के मोड़ पर एक अंडरपास बना हुआ है।जो सही ढंग से चल रहा है एक अन्य अंडरपास के बगल में बनाने की क्या जरूरत आन पड़ी है। उन्होंने बताया जल्दी ना रोका गया तो एक बड़े आंदोलन को भी कर सकते हैं इस अवसर पर महेश फागना, प्रमोद, रोहतास ,सूरज, दिलीप ,मंगल ,मुकेश ,चतर व दिनेश आदि मौजूद थे।

 

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।