अगले वर्ष जनवरी मास में की जायेगी जमाबंदी और म्यूटेशन सम्बन्धी विषय को लेकर समीक्षा बैठक:-डी.सी. अशोक कुमार शर्मा।
December 18th, 2019 | Post by :- | 63 Views

अम्बाला, ( सुखविंदर सिंह ) उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने आज अपने कार्यालय में डिस्ट्रीक टास्कफोर्स की बैठक लेते हुए अवैध माईनिंग, ओवरलोडिंग व स्क्रीनिंग प्लांट के विषय पर समीक्षा करते हुए इन विषयों पर गंभीरता से कार्य करने के निर्देश दिये। उन्होंने बैठक में बिंदुवार रखे गये विषयों पर विस्तार से चर्चा कर समीक्षा भी की। 

उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने बैठक के दौरान स्पष्ट किया कि अवैध माईनिंग व स्क्रीनिंग प्लांट के विषय में किसी भी प्रकार की लापरवाही सहन नहीं की जायेगी। उन्होंने बैठक में एसडीएम नारायणगढ की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित करके जिसमें डीएसपी नारायणगढ, माईनिंग ऑफिसर, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, डीटीसी सेल्स व अन्य सम्बन्धित अधिकारियों को जो भी अवैध रूप से स्क्रीनिंग प्लांट चल रहे हैं उन पर लगाम कसते हुए तुरंत कार्यवाही करने के निर्देश दिये। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से आये अधिकारी ने उपायुक्त को बताया कि उनके बोर्ड चार स्क्रीनिंग प्लांट को बंद किया गया है। उन्होंने बताया कि नारायणगढ में 47 स्क्रीनिंग प्लांट हैं जिनमें से 24 पंजीकृत हैं अन्य जो  अवैध रूप से चल रहे हैं उन पर नकेल कसने की जरूरत है। 

 उन्होने  बैठक में यह भी कहा कि समय-समय पर चैकिंग करके इन प्लांटो को सील करने का काम भी किया गया है। इसके साथ-साथ इन्वायरमैंट कोर्ट में भी सम्बन्धित के खिलाफ कार्यवाही के लिए लिखा गया है। उपायुक्त ने माईनिंग अधिकारी से नदियों में किए जा रहे अवैध माईनिंग के संबध में भी जानकारी लेते हुए इस दिशा में क्या कार्य किए गये हैं उस बारे भी उन्हें निर्देश दिये गये कि अवैध माईनिंग का कार्य किसी भी सूरत में बर्दाशत नहीं किया जायेगा। माईनिंग अधिकारी ने उपायुक्त को बताया कि इस वर्ष 35 एफआईआर दर्ज की गई है तथा 55 व्हीकल पकडे गये हैं जिनमें से 18 व्हीकल इम्पाउंड हैं। इस कार्यवाही के दौरान लगभग 27 लाख की राशि भी जब्त की गई है। 

उपायुक्त ने ओवरलोडिंग विषय पर आरटीए विभाग के अधिकारियो को निर्देश दिये कि ओवरलोडिंग विषय पर भी विशेष अभियान चलाएं। नारायणगढ क्षेत्र में खासतौर पर इस अभियान को चलाकर वाहन चालकों को सचेत करें। उसके बावजूद यदि कोई ओवलोडिंग करता है तो उसके खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही अमल में लाएं। उन्होंने पुलिस विभाग के अधिकारियों को भी ओवरलोडिंग के मामले में कार्यवाही करने के निर्देश दिये। 

इसके अलावा उपायुक्त ने राजस्व विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर म्यूटेशन, जमाबंदी की ऑनलाईन,करने से सम्बन्धित कार्य पूरा करने के लिए भी कहा। रिकवरी विषय पर भी अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिये कि इस कार्य में तेजी लाएं। यदि इस कार्य में कोई ढील होती है तो सम्बन्धित अधिकारी इसके लिए जिम्मेवार होगा। उन्होंने बताया कि म्यूटेशन से सम्बन्धित मामलों में कई बार शिकायतें संज्ञान में आई हैं, इसलिए अधिकारी इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरतें। साथ ही साथ राजस्व विभाग से सम्बन्धित जो भी कोर्ट केस उनके पास है उनका तत्काल निपटान करें। जमाबंदियों की ऑनलाईन व ऑफलाईन के बारे में भी उन्होंने तहसीलों व उप तहसीलों के मुताबिक सम्बन्धित अधिकारियों से जानकारी ली। उन्होंने बैठक में मौजूद एसडीएम को कहा कि म्यूटेशन व अन्य विषयों से जुड़े कार्यों पर भी सम्बन्धित अधिकारियों की एक बैठक लेकर समीक्षा करें ताकि इन कार्यों मे तेजी लाई जा सके। डीआरओ भी अपने विभाग से जुड़े विषयों पर समीक्षा बैठक लेकर निगरानी रखें। उन्होंने कहा कि जनवरी माह में दोबारा से बैठक लेकर इन सभी विषयों की समीक्षा की जायेगी। 

बैठक में एडीसी जगदीप ढांडा, एसडीएम गौरी मिड्डा, एसडीएम अदिति, एसडीएम भारत भूषण कौशिक, डीएसपी अमित भाटिया, डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह, डीआरओ कैप्टन विनोद शर्मा, माईनिंग ऑफिसर भूपिन्द्र सिंह, डीटीसी सेल्स दलबीर सिंह, डीआईओ विनय गुलाटी सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।