फिरोजाबाद से मथुरा आ रहे लखनऊ के यात्रियों का नगदी और कागजात से भरा बैग ट्रैन में छुटा, टिकट निरीक्षक दल ने यात्रियों को गंगापुर बुलाकर लौटाया
December 18th, 2019 | Post by :- | 156 Views

गंगापुरसिटी। आज के समय में जहां लोग पैसों के लिए भागम भाग कर रहे हैं , वहीं दूसरी ओर रेलवे के कर्मचारी अपनी ड्यूटी को पूरी इमानदारी से निभा रहे हैं। ऐसा ही मामला बीती रात देखने को मिला। फिरोजाबाद से मथुरा आ रहे लखनउ के निवासी पिता पुत्री का रुपयो से भरा बैग जनता एक्सप्रेस ट्रेन में रह गया। ट्रेन में सवार मुख्य टिकट निरीक्षक प्रवीण कुमार को जब इस बारे में जानकारी लगी तो तुरंत सीट पर पहुंचे और बैग को ढूंढते हुए अपने पास सुरक्षित रखते हुए यात्री को जानकारी दे दी। जिस पर मथुरा स्टेशन पर खदे दोनों यात्री दूसरी ट्रेन से गंगापुर पहुंचे। जहां प्रवीण कुमार ने अन्य साथी टीम के लोगों के सामने बैग लौटा दिया। बैग मिलने पर यात्रियों ने टीटीई के कार्य की सराहना करते हुए आभार जताया।
लखनऊ निवासी दिव्या असरानी ने बताया कि वो और उसके पापा हरीश असरानी मंगलवार को जनता एक्सप्रेस ट्रेन से फिरोजाबाद से मथुरा जा रहे थे। मथुरा से लखनऊ के लिए उन्हें दूसरी ट्रैन पकड़नी थी। उनके पास सामनो से भरे 4 से 5 बैग थे। ट्रैन के एस 3 में 72 नंबर पर उनकी सीट थी। मथुरा में ट्रेन रुकने पर वे जल्दवाजी में उतर गए और ऊपर की सीट पर एक बैग रह गया। जिसमें 5 हज़ार रुपये और कागजात थे। ट्रैन रवाना होने पर उन्हें बैग का ध्यान आया। जिस पर उन्होंने आगरा कन्ट्रोल को जानकारी दी। ट्रैन में सवार उप मुख्य टिकट निरीक्षक प्रवीण कुमार, महेश बघेल, जितेंद्र शर्मा, केजे सागर आदि को जानकारी मिलने पर तुरंत सीट पर पहुंचे और बैग में मिली डायरी पर लिखे नंबर पर कॉल कर यात्रियों को बैग उनके पास सुरक्षित होने की जानकारी दी। जिस पर दिव्या और उसके पापा डिलक्स ट्रैन से गंगापुर पहुचे। जहां उन्हें बैग लौटा दिया। बैग में सभी रुपये, कागजात और अन्य सामान सुरक्षित मिलने पर प्रवीण कुमार सहित अन्य टिकट चेकिंग दल का आभार जताया गया। दिव्या ने बताया कि बैग ट्रैन में छूट जाने पर जब मथुरा स्टेशन पर स्टेशन मास्टर और अन्य लोगो को बताया तो उन्होंने भी उनकी पूरी मदद की।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।