न.पा.चेयरपर्सन की कुर्सी पर मंडराया खतरा। 11 पार्षद हुये विरोध में हुये लामबंद। चेयरपर्सन के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए डीसी से मुलाकात की
December 17th, 2019 | Post by :- | 303 Views

बराड़ा, 17 दिसंबर (जयबीर राणा थंबड़)
बराड़ा नगरपालिका दस पार्षद नपा चेयरपर्सन रमा खेत्रपाल के खिलाफ लामबंद हो चुके हैं नपा चेयरपर्सन के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव की मांग को लेकर मंगलवार को बागी पार्षद उपायुक्त अम्बाला से मिले पता चला है कि इस संदर्भ में उपायुक्त अशोक शर्मा ने बराड़ा उपमंडलाधीश भारत भूषण कौशिक को आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं
ज्ञात रहे कि न.पा.के 15 पार्षदों में से 11 पार्षदों ने जब लामबंदी कर न.पा.चेयरपर्सन का विरोध कर दिया। चेयरपर्सन से नाराज चल रहे इन पार्षदों ने सोमवार को डीसी अशोक कुमार शर्मा से मुलाकात करने की कोशिश की हालांकि उनकी मुलाकात नहीं हो पाई। सभी पार्षद चेयरपर्सन को कुर्सी से हटाने के लिए डीसी को शपशपत्र देने की बात कह रहे हैं। सोमवार को पार्षद शमशेर सिंह, अमित धीमान, सुरजीत सिंह, अभिलाषा, योगिता,अंजू, सीमा, मनीष, जसविंद्र, रिचा पाहवा व दीपक बाजवा ने डीसी से मुलाकात करने का प्रयास किया था। पर किसी की डीसी से मुलाकात नहीं हो पाई।
कई दिन से चल रही थी चर्चाएं
नपा चेयरपर्सन रमा खेतरपाल से नाराज चल रहे पार्षद पिछले कई दिन से लामबंद हो रहे थे। सोमवार को जैसे ही सभी पार्षद डीसी के पास पहुंचे तो कस्बे में यह बात पूरी तरह आग की तरह फैल गई। पता चला है कि नाराज पार्षदों को मनाने के लिए खुद चेयरपर्सन के पति अनमोल खेतरपाल भी अंबाला पहुंच गए थे। तब उनके साथ एक पार्षद भी। मगर उनकी किसी नाराज पार्षद से मुलाकात नहीं हो पाई। हालांकि नाराज पार्षदों की डीसी से मुलाकात न होने से चेयरपर्सन को बड़ी राहत मिली है। अब उनकी नजर मंगलवार को नाराज पार्षदों की गतिविधियों पर रहेगी।
क्या रही पार्षदों की नाराजगी की वजह- इस बारे जब कुुछ पार्षदों से संपर्क स्थापित किया गया तो अधिकतर का कहना था कि पार्षदों के निजि वार्डों की समस्या को चेयरपर्सन गंभीरता से नही ले रही थी। अधिकतर कार्य उनके पति अनमोल खेत्रपाल की देखरेख में किये जा रहे थे। जिससे पार्षदों में नाराजगी बढ़ती जा रही थी। वहीं कुछ भाजपा से जुड़े पार्षदों ने आरोप लगाया कि चेयरपर्सन पति का ग्रुप चुनावों में भाजपा की अनदेखी करता रहा।

वहीं इस बारे चेयरपर्सन पति अनमोल खेत्रपाल का कहना था कि हमने किसी भी वार्ड से भेदभाव नही किया। सभी का समान विकास कार्य करवाया है। रूठे पार्षदों से बातचीत जारी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।