तावडू में आयोजित राहगीरी कार्यक्रम में दिया उर्जा/ बिजली बचाओ का सन्देश : कंवर संजय
December 16th, 2019 | Post by :- | 125 Views
नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  । पुलिस व जिला प्रशासन द्वारा आज तावडू में राहगीरी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में तावडू, सोहना के विधायक कंवर संजय सिंह ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की ,   उप-पुलिस अधीक्षक तावडू भी  मौजूद थे।
इस मौके पर उपस्थित लोगों  को संबोधित करते हुए विधायक संजय सिंह ने कहा कि प्रशासन आम आदमी  को जोड़ने के लिए राहगीरी कार्यक्रम का आयोजन  पुलिस विभाग के माध्यम से जिले में  करवाए जाते हैं । जिसके समाज व प्रशासन  एक दूसरे को समझ सके और इसमें सांस्कृतिक वह अन्य खेल और मनोरंजन के कार्यक्रम आयोजित होते हैं जिसमें  क्षेत्र के बड़े बूढ़े और बच्चों भी भाग लेते हैं| उन्होंने  शहर वासियों का आभार प्रकट किया कि वे इस कार्यक्रम का हिस्सा बने और भाग लिया| उन्होने कहा कि इस प्रोग्राम का मुख्य उद्देश्य पुलिस व आम आदमी के बीच बढती दूरिया को कम करना है| इस तरह के कार्यक्रम का मकसद एक तरफ लोगों को किसी सामाजिक मुद्दे पर जागरुक करना है । लोग सुबह जल्दी उठकर इस तरह के कार्यक्रमों में भाग लेते हैं तो उनका अच्छा शारीरिक व्यायाम भी होता है।
          उन्होंने कहा कि आज राहगीरी का कार्यक्रम का मुख्य थीम उर्जा (बिजली)बचाओ, व मानव अधिकार के प्रति लोगों को जागरूक करने पर था।  उन्होंने कहा कि 10 दिसम्बर का दिन मानव अधिकार दिवस के रुप में मनाया जाता है तथा 14 दिसंबर का दिन उर्जा (बिजली)बचाओ के रुप में मनाया जाता है, इसलिए आज आयोजित होने वाले राहगीरी कार्यक्रम में उक्त दोनो विषयों पर थीम रखा गया। उन्होंने लोगो को स्वच्छता का सन्देश देते हुए कहा कि पॉलिथीन की वजह से न केवल शहर में गंदगी फैलती है बल्कि जमीन की उर्वरा क्षमता भी कम होती है और प्रदूषण का कारण भी बनती है। लोग जब भी बाजार सामान लेने जाए तो अपने घर से कपड़े का थैला लेकर जाएं। उन्होंने कहा कि आज जल संरक्षण विषय पर भी बन्द दिया गया हम सभी को चाहिए कि जल की कीमत को समझे तथा जल का संरक्षण अवश्य करे ।
      डीएसपी ने बच्चों से आह्वान किया कि वे मोबाइल का कम से कम प्रयोग करें तथा हर रोज एक घंटा खेल में भाग ले। छात्र अपनी पसंद का कोई भी एक गेम अपनाकर अपने साथियों के साथ कम से कम एक घंटा जरूर बिताएं। मोबाइल के इस्तेमाल से बच्चे न केवल शारीरिक रूप से कमजोर होते जा रहे हैं बल्कि यह बच्चों को उनके लक्ष्य से भड़काता है। किसी भी तकनीक का प्रयोग बड़ी समझदारी के साथ केवल सीमित समय तक ही करना चाहिए। ज्यादा समय तक बच्चों को मोबाइल नहीं रखना चाहिए।
इस मौके पर स्कूली बच्चों के साथ-साथ आम नागरिकों ने भी जमकर डांस किया।
राहगीरी कार्यक्रम में  रा. वा. मा. वि. कलवाडी स्कूल के बच्चों का समूह नृत्य- मुकुट सिरमौर का मेरे चित चोर का व एकल नृत्य  मेरा रंग दे बंसती चोला,  समूह गान रा. वा. मा. वि. तावडू के बोल थे अरे मेरे यार सुदामा रे, समूह नृत्य- मेवात माडल स्कूल तावडू,  सानू कैन्दी, नृत्य भोले शंकर भगवान का तांडव, लघु नाटिका जल संरक्षण मेव हाई स्कूल नूंह, के बच्चों ने डांस व भाषण प्रतियोगिता में अपनी प्रतिभा दिखाई। इस मौके पर विभिन्न  खेलों में आम नागरिकों ने हिस्सा लिया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।