पुन्हाना में ओलावृष्टि से सरसों व गेहूं की फसल को  पहुंचा नुक्सान 
December 16th, 2019 | Post by :- | 73 Views
नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।  खंड के गांव बड़का के किसानों ने प्राकृतिक की भरपाई के लिए प्रदेश सरकार से गिरदावरी कराने की मांग की है। बृहस्पतिवार को ओलावृष्टि से सरसों की फसल से पीला फूल झड़ गया। और कुछ खेतों की फसल तक टूट कर गिर गई दूसरी तरफ गेहूं की फसल को भी भारी नुकसान पहुंचा है। किसान याकूब, यासीन, इसराइल, महताब, इरफान, लुकमान, अहमद, बरकती, शुबदीन, दाऊद, हफीज, शहीद, जमील, अली मोहम्मद, शकूर, रत्ती, नफीस, आदि ने बताया कि बृहस्पतिवार की रात में हुई ओलावृष्टि व बारिश से खेतों की फसल को भारी नुकसान पहुंचा है। सुबह हो जाने के बाद खेतों को देखने के लिए आए तो देखा कि केवल पौधे और पत्ते खड़े हुए हैं। जबकि सरसों का फूल ओलावृष्टि से जमीन पर गिरा हुआ है। किसानों ने बताया कि हमारे गांव में 80 फ़ीसदी सरसों की फसल को नुकसान है। नुकसान की भरपाई के लिए प्रदेश सरकार को गिरदावरी कराने के लिए जिला प्रशासन को आदेश देना चाहिए।
 समाजसेवी तौफीक खान ने बताया कि बिशरू, झहटान, बड़का गांव व अन्य गांवों में पहुचकर गिरदावर ओर पटवारी को नुकसान का जायजा लेना चाहिए।
  तौसिफ खान समाजसेवी ने बताया कि पुन्हाना खंड के 40 गांवो में बृहस्पतिवार को हुई ओलावृष्टि से सरसों की फसल में भारी नुकसान हुआ है। महंगाई की मार झेल रहे हैं। किसान पहले ही परेशान है। ऊपर से हुई ओलावृष्टि ने उनकी कमर तोड़ कर रख दी है। किसानों के नुकसान की भरपाई के लिए गिरदावरी कराने के लिए सरकार से मांग की है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।