बीजेपी के लिए बन सकती है गले की फाँस, टिकट दावेदारों की लंबी सूची |
August 26th, 2019 | Post by :- | 117 Views
बीजेपी के लिए बन सकती है गले की फाँस, टिकट दावेदारों की लंबी सूची |

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट) :- होडल विधानसभा सीट पर बीजेपी की टिकट पर चुनाव लडऩे की दौड लगाने वालों दिनों दिन लंबी लाइन होने से भाजपा को भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। हर कोई कार्यकर्ता अपने आप को बीजेपी की टिकट के लिए प्रलब दाबेदार बता रहा है। इतना ही नहीं बीजेपी कार्यकर्ता इस सुची में आने के लिए एक-दूसरे पर कीचड़ उछालने से भी परहेज नहीं कर रहे | इस बात को लेकर के आलाकमान नेताओं के होडल विधानसभा सीट पर बीजेपी के प्रबल दावेदार ढूंढने में परेशानियों का सामना करना पड़ेगा |

पहले विधानसभा चुनावों में बीजेपी की हालत नाजुक देखकर कोई भी क्षेत्रीय नेता टिकट की दावेदारी में आगे नहीं आता था। जिसके चलते बीजेपी एक बार ने बाहरी नेता महावीर इंजिनियर को होडल विधानसभा सीट से चुनाव लडाया गया था। इसके बाद स्व. मास्टर पूरनलाल ने हाथ आजमाया था। मगर इन्हें कड़ी शिकस्त मिली। लेकिन अब बीजेपी का जनाधार होने के कारण क्षेत्रीय नेताओं में हर किसी के चुनाव लडऩे की होड़ लग गई है। पिछले दिनों पलवल में आयोजित एक कार्यक्रम में पूर्व मंत्री जगदीश नायर व पूर्व विधायक रामरतन तथा हाल ही में बीजेपी का दामन थामने वाली एक महिला नेत्री नवीन रोहिल्ला के बीच तीखी नौंक-झोंक हो गई थी। इस नौंक-झोंक से पार्टी में एक दूसरे के प्रति बनी दरार सभी के सामने उजागर हो गई। वहीं पिछली बार टिकट के दावेदार जगपाल मांडोत व जिला परिषद पलवल के चेयरपर्सन चमेली देवी सोलंकी का कहना है कि पिछली बार वह बीजेपी की टिकट पर चुनाव लडऩे के लिए प्रबल दावेदार थे, मगर ऐन मौके पर पूर्व विधायक रामरतन की झोली में बीजेपी की टिकट देकर होडल विधानसभा की सीट को गंवा दिया था।

इस बार बीजेपी की टिकट के दावेदारों में जगदीश नायर, रामरतन, चमेली देवी सोलंकी, नवीन रोहिल्ला, घासीराम, जगपाल मांडोत, सुशील कुमार, महेंद्र महावर व हरेंद्र सिंह, गौरव बैनीवाल, पवन पूनिया आदि के अलावा कई नेता शामिल हैं। पिछले विधानसभा चुनावों में होडल विधानसभा सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार उदयभान ने अपने प्रतिद्वंदियों को पटखनी देकर चारों खाने चित कर दिया था। उस समय में भी बीजेपी के प्रत्याशी रामरतन तीसरे स्थान पर रहकर संतोष करना पड़ा था। इस बार भी रामरतन अपने-आपको बीजेपी का सबसे प्रबल दावेदार मान रहे हैं।

 किस आधार पर होगी टिकट की दावेदारी :-
पूर्व मंत्री जगदीश नायर ने कहा कि उन्होंने पहले भी क्षेत्र में विकाश कराया है। उनसे पहले विधायकों ने क्षेत्र का विकास नहीं विनाश किया था। इस बार उन्होंने सीएम मनोहरलाल व पीएम नरेंद्र मोदी की विकासात्मक सोच के चलते बीजेपी की टिकट पर चुनाव लडने की तैयारी है।
पूर्व विधायक रामरतन :-
उन्होंने कहा कि वह पहले भी बीजेपी पार्टी में थे और आज भी पार्टी में ही है। उन्होंने कहा कि उन्होंने पिछली बार भी बीजेपी की टिकट पर चुनाव लड़ा था इस बार भी वहीं बीजेपी से प्रत्याशी होंगे।
चमेली देवी सोलकी :-
नगर परिषद की चेयरपर्सन चमेली देवी सोलंकी ने कहा कि पिछली बार उनकी टिकट बीजेपी हाइकमान ने ऐन वक्त पर पलवल में रहने वाले रामरतन को टिकट दे दी थी। जिसके चलते मजबूत प्रत्याशी न होने के कारण इस सीट पर कांग्रेस पार्टी का कब्जा रहा है।

कहने का मतलब यह हैं हर नेता अपने को संभावित प्रत्यासी मान कर चल रहा हैं | भाजपा आलाकमान को कोई ठोस निर्णय लेने में खासी परेशानीयों का सामना करना पड़ सकता हैं|

 

 

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।