चाकसू मर्डर केस का हुआ खुलासा
December 14th, 2019 | Post by :- | 115 Views

कोथून/जयपुर,(सुरेन्द्र कुमार सोनी) । चाकसू थाना क्षेत्र के गांव बड़ली से एक दिन पहले लापता हुई 8वीं कक्षा की 12 वर्षीय पायल का गुरुवार को शव झाडि़यों में मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। बालिका के शरीर पर डंडे से जमकर पीटने के निशान मिले,चेहरा पत्थर से कुचला गया, पानी में भी डुबोया गया और फिर हत्यारे ने मौत की पुष्टि के लिए उसका गला दबा दिया। पोस्टमार्टम में इसका खुलासा हुआ है। पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सक भी डंडे से पिटाई पर बालिका की पसलियां टूटी देख सन रह गए। देर शाम पोस्टमार्टम के बाद बच्ची का शव परिजनों को सौंप दिया। बालिका का शव मिलने की सूचना पर पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव मौके पर पहुंचे और आक्रोशित लोगों को मामले का खुलासा करने का आश्वासन दिया। बडली निवासी बाबूलाल गुर्जर की बेटी पायल (12) की हत्या की शिकार हुई। पोस्टमार्टम में बच्ची से दुराचार नहीं होना बताया गया है। इसके चलते रंजिशन बच्ची की हत्या किया जाना बताया गया है। बताया गया है कि गौरतलब है कि गांव बडली में रहने वाली बालिका 8वीं कक्षा में अध्ययनरत है। बुधवार को स्कूल से लौटकर पायल ने कपड़े बदले और फिर घर से बाहर खेलने चली गई। इसके बाद से शाम तक घर नहीं लौटी। परिजनों आस-पास के क्षेत्र में उसे तलाशा लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। चाकसू थाने में बालिका की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई गई। गुरुवार सुबह झाडि़यों में बालिका का शव मिलने की सूचना पर मौके पर भीड़ जुट गई। परिजनों ने उसकी पहचान की। मामले को लेकर परिजनों और ग्रामीणों में रोष व्याप्त हो गया और शव उठाने से रोककर मौके पर ही पोस्टमार्टम करने की मांग की। विधायक और पुलिस अधिकारियों ने ग्रामीणों को शव का पोस्टमार्टम एसएमएस अस्पताल जयपुर ले जाकर करने की समझाइश की। इस पर ग्रामीण मान गए और शव एसएमएस अस्पताल ले गए। जहां शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया। घटनास्थल पर बैठे ग्रामीणों के आक्रोश के बाद भी पुलिस मृतक छात्रा के शव को उठाने लगी तो ग्रामीणों ने रोक दिया। इस पर क्षेत्रीय विधायक व पुलिस के उच्चाधिकारियों ने ग्रामीणों को शांत किया। ग्रामीणों ने तीन दिन के अंदर मामले का खुलासा करने की मांग की। जिस पर अधिकारियों ने आश्वासन दिया। चाकसू विधायक वेदप्रकाश सोलंकी पहुंचे तो परिजनों का दर्द फूट पड़ा। उन्हें रोता-बिलखता देख विधायक भी भावुक हो गए। मामले की गंभीरता को देखते हुए जयपुर पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव,डीसीपी योगेश दाधीच,एडीसीपी अवनीश शर्मा, एसीपी के.के.अवस्थी और एसएचओ चाकसू बृजमोहन कविया मय जाप्ता मौके पर पहुंचे। डॉग स्क्वायड और एफएसएल टीम ने घटनास्थल से साक्ष्य जुटाए। इस दौरान चाकसू विधायक वेदप्रकाश सोलंकी भी मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों से समझाइश की। एडिशनल कमिश्नर अशोक गुप्ता ने मीडिया प्रेस कॉन्फ्रेंस कर खुलासा किया। बताया गया कि हत्या मामले में पडौस में रहने वाली विधि से संघर्षरत सहपाठी छात्रा हीं बाल अपचारी निकली। पेन पेंसिल को लेकर मृतका व सहपाठी छात्रा में विवाद हुआ था। विधि से संघर्षरत बालिका के पिता कैलाश गुर्जर व पत्नी रामघनी को भी हत्या के साक्ष्य मिटाने सहयोग पर गिरफ्तार कर लिया गया है। ओर नाबालिग बालिका को सुधार गृह भेज गया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।