नूह अनाज मंडी में भीगी धान की फसल
December 13th, 2019 | Post by :- | 190 Views

नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।खुले आसमान के नीचे खेतों में तो किसान की फसलों को नुकसान हुआ ही , लेकिन अनाज मंडी में भी किसान – आढ़ती की फसल ओलावृष्टि – बरसात से न केवल भीगी बल्कि पानी की निकासी नहीं होने के कारण धान की बोरियां पानी में तैरने लगी। गुरुवार देर शाम से लेकर रात में हुई बरसात से अनाज मंडी नूह में हजारों क्विंटल धान की फसल पानी में पूरी तरह भीग गई। अभी भी मौसम का मिजाज ठीक नहीं है। मौसम विभाग के मुताबिक अगले करीब 3 दिन तक धूप नहीं खिलने की बात कह रहा है। अनाज मंडी में रखरखाव या टीन – शेड व्यवस्था नहीं होने या तिरपाल नहीं होने की वजह से अनाज मंडी में लगे बोरियों के फड़ पूरी तरह भीग गए। ऐसे हालात में धान की फसल के खराब होने से इंकार नहीं किया जा सकता। पुन्हाना अनाज मंडी में भी धान की फसल भीगने की खबर मिल रही है। जिले की दोनों बड़ी अनाज मंडी में गोदामों का इंतजाम नहीं है , तो बाकि शहरों की अनाज मंडियों का अंदाजा आप स्वयं लगा सकते हैं। शुक्रवार सुबह आढ़ती – पल्लेदार भीगी हुई धान की फसल को देखने में व्यस्त और उदास दिखाई दिया। अनाज मंडी के आढ़ती एवं किसान मार्केटिंग एवं अन्य संबंधित विभागों के इंतजामों को नाकाफी बता रहे हैं। आपको बता दें कि धान की खरीद पिछले काफी लम्बे समय से हो रही है , लेकिन उठान एवं रखरखाव कितना बेहतर है , इसका अंदाजा अनाज मंडी में भीगी हुई इन हजारों बोरियों को देखकर लगाया जा सकता है। किसान तो किसान अब तो व्यापारी भी इंतजामों का रोना रो रहे हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।