एनआरसी ओर सीएबी को लेकर जमीयत उलेमा ए हिंद ने सौंपा ज्ञापन
December 13th, 2019 | Post by :- | 201 Views
नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।केंद्र सरकार द्वारा लोकसभा – राज्यसभा में एनआरसी तथा सीएबी दिल को पूर्ण बहुमत के साथ पास होने पर मुस्लिम बाहुल्य जिला नूह में डट कर विरोध हो रहा है । कांग्रेस पार्टी के साथ – साथ जिले के तमाम समाज सेवी संगठन इस बिल का घोर विरोध कर रहे हैं । शुक्रवार को जुम्मा की नमाज के बाद जमीयत उलेमा ए हिंद की अगुवाई में नूह जिले के नूह , फिरोजपुर झिरका , पुन्हाना इत्यादि शहरों में अधिकारियों के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। पुन्हाना शहर बीडीपीओ कार्यालय प्रांगण से एसडीएम कार्यालय पुन्हाना तक प्रदर्शन किया और केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर अपनी नाराजगी जाहिर की।  मुस्लिम समाज के लोगों ने पुन्हाना शहर सहित कई जगहों पर बाजू में काली पट्टी बांधकर बिल का विरोध किया।
मेवात के लोगों का मानना है कि इस बिल के पास होने से मुल्क में सदियों से चला आ रहा भाईचारा कहीं ना कहीं पूरी तरह से खराब होगा और भाई को भाई से लड़ाने की सरकार की कहीं ना कहीं मनसा जगजाहिर हो जाएगी । एनआरसी तथा सीएबी बिल से मुस्लिम समाज के लोग बेहद नाराज हैं । उन्होंने दो टूक कहा कि उनके पूर्वजों ने मुल्क की खातिर न केवल अपनी जान गवाई बल्कि जिस हाल में भी जरूरत पड़ी उन्होंने देश की आन , बान और शान के लिए कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा । उसके बावजूद भी उन्हें मुल्क में रहने के लिए इस तरह का दिन देखना पड़ रहा है । उन्होंने कहा कि सड़क से लेकर संसद तक जिस तरह भी विरोध किया जाएगा या फिर सर्वोच्च अदालत का दरवाजा खटखटाया जाएगा। उससे भी इलाके के लोग पीछे नहीं हटेंगे । वैसे कांग्रेस के साथ-साथ कुछ विपक्षी दल भी इन दोनों बिलों का डटकर विरोध कर रहे हैं । अब देखना है कि भाजपा की केंद्र सरकार का रुख इन बिलों को पास कराने के बाद किस तरह का होगा । कुल मिलाकर अगर इन बिलों को पूरी तरह से लागू किया गया तो आने वाले समय में कुछ कठिन दौर देखने को मिलने से इंकार नहीं किया जा सकता ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।