बहल के कुश्ती दंगल मेले में बामला के पहलवान सोमबीर ने मारी बाजी, जीती 31000 की इनामी प्रतियोगिता।
August 26th, 2019 | Post by :- | 143 Views
बहल के कुश्ती दंगल मेले में बामला के पहलवान सोमबीर ने मारी बाजी, जीती 31000 की इनामी प्रतियोगिता।

बहल, ( शकील अहमद)

बहल के गोगा नवमी पर आयोजित कुश्ती दंगल में शंकर कुश्ती अखाड़ा रोहतक के पहलवान सोमबीर बामला के नाम रही तो दूसरी कुश्ती शंकर अखाड़ा के पहलवान विजय धनाना के नाम रही। दंगल की तृतीय कुश्ती पहलवान नीरज धारेडू ने अपने नाम की। महिला कुश्ती का दंगल का प्रथम पुरस्कार महिला पहलवान पिंकी नंगला नेशनल गोल्ड मेडलिस्ट के और दूसरी कुश्ती पहलवान प्रियंका लेंघा स्टेट गोल्ड मेडलिस्ट के नाम रही। विजेताओं को नकद इनामी राशि व एक पौधा देकर देकर सम्मानित किया गया।

इससे पहले गोगानवमी के उपलक्ष्य में अलख बाबा मंदिर के नजदीक भव्य मेले का आयोजन हुआ और बहल व आसपास के ग्रामीणों ने खूब जमकर खरीददारी की। गोगा पीर की पूजा अर्चना सुबह से ही शुरू होकर देर शाम। तक जारी रही। नारियल व प्रसाद का भोग लगाकर आराध्य देव से मन्नत मांगी। श्रद्धालुओं ने पीर से अमन शांति के साथ आपसी भाईचारे की सलामती की दुआ की। सायं 5 बजे के लगभग कुश्ती दंगल लगा और दूर दराज से आए हुए पहलवानों ने अपना खूब दमखम दिखाया। ग्राम पंचायत व गोगा ट्रस्ट के संयोजन से इनामी कुश्ती के अलावा सांत्वना कुश्तियां के भी रोचक मुकाबले देखने को मिले।

स्व. कपिल शर्मा की स्मृति में महिला कुश्ती दंगल कराए गए। प्रथम पुरस्कार के रूप में 51 सौ रुपये की कुश्ती, दूसरी कुश्ती 21 सौ रुपये तथा 11 सौ रुपये की तीन कुश्ती हुईं। सांत्वना इनाम की दो कुश्ती भी कराई गईं। सांत्वना कुश्ती में बहल के पहलवानों का दबदबा बना रहा कई रोचक दंगल जीते। पुरुष कुश्तियों के विजेता पहलवानों को नकद राशि भेंटकर सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर ग्राम पंचायत बहल के सरपँच, गोगा पीर ट्रस्ट के संयोजक डॉ. दयानन्द जावला, बहल युवा एकता संगठन के प्रधान योगेश शर्मा, स्व. कपिल शर्मा के छोटे भाई सुनील शर्मा, मार्केट कमेटी के चेयरमैन सुशील केड़िया, शकील अहमद, शिव नागर, अंकुर गोस्वामी, अनुज पहलवान, महाबीर सांगवान गोकुलपुरा सहित कस्बे के अनेक गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।