निर्माण कार्य को निर्धारित अवधि के तहत पूरा करें अधिकारी–गुणवत्ता का रखा जाए विशेष ध्यान:-गृह व स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज।
December 13th, 2019 | Post by :- | 109 Views

अम्बाला, ( सुखविंदर सिंह ) गृह व स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने बुन्दाबान्दी के बीच करीब 20 करोड़ रूपए की लागत से बन रहें सुभाष पार्क का निरीक्षण करके इस पार्क के सौन्दर्यकरण और पुर्ननिर्माण कार्यों का जायजा लिया और सम्बन्धित एंजैसी व कॉन्ट्रैक्टर को तालमेल बनाते हुए नगर निगम के अधिकारियों को कार्य मे तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने निरीक्षण के दौरान सम्बन्धित अधिकारियों को समय सारिणी बनाने के निर्देश दिये ताकि सुभाष पार्क के जीर्णोद्धार कार्य को पूरा किया जा सके। इस दौरान उनके साथ एमई हरीश कुमार सहित सम्बधिंत अधिकारी भी उपस्थित थे।
विज ने सुभाष पार्क का निरीक्षण करते हुए बताया कि यह एक महत्वपूर्ण प्रोजैक्ट है तथा इसके सौन्दर्यकरण के लिए करोड़ों रूपये की राशि मंजूर की गई थी। इसका करीब 70 प्रतिशत कार्य पूरा किया जा चूका हैं। अगले करीब छ: महीनों मेें यह कार्य पूरा कर लिया जाएगा।  उन्होने बताया कि जिस प्रकार से सुभाष चंद्र बोस का व्यक्तित्व एवं कद था उसी के तहत इस पार्क को भव्य एवं बेहतरीन तरीके से बनाने का काम किया जा रहा है। निरीक्षण के दौरान उन्होंने कंपनी के कॉन्ट्रैक्टर व नगर निगम के सम्बन्धित अधिकारियों से पार्क में किये जा रहे कार्यों के बारे में विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने पार्क में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की उंची प्रतिमा बनाने सम्बधी विषय पर जानकारी ली।
फुटपाथ को निर्धारित मापदण्ड के तहत चौड़ा करने तथा यहां पर बेहतरीन टाईलें लगाने के निर्देश दिये। इसके साथ-साथ उन्होंने नालों के उपर वाले पुलों को डिजाईनदार बनाने बारे, स्कैटिंग रिंग, वाटर बॉडी, चिल्ड्रन कोर्नर, लेक, शैड, ओपन ऐयर थियेटर, टॉयलेट सहित अन्य कार्यों के बारे में जानकारी ली और इन कार्यों को तेजी से करने बारे निर्देश दिये। उन्होंने पार्क में लगाये जाने वाले पौधों के बारे में भी जानकारी ली और सम्बन्धित अधिकारियों को गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखने के लिए कहा। उन्होने कहा कि वह समय-समय पर इस पार्क का निरीक्षण करेंगे ताकि चल रहे निर्माण कार्यों के बारे में जानकारी मिलती रहें और समय रहते इस कार्य को पूरा किया जा सके। 
इस मौके पर उन्होनें अधिकारियों को यह निर्देश भी दिए कि बदलते परिवेश के चलते व्यायामशालाओं का बहुत अधिक महत्व बढ़ गया हैं। व्यायाम शालाएं हमारी प्राचीन संस्कृति, ऋषि मुनियों द्वारा दी गई सार्थक सोच का प्रेरक परिणाम हैं। उन्होंने अधिकारियों को यह भी कहा कि व्यायामशाला की क्षमता तीन गुणा बढ़ाई जाए ताकि अधिक से अधिक लोग लाभान्वित हो सकेंं । इस मौके पर टोनी बिद्रां, ललता प्रसाद, राजीव डिम्पल व मीडिया कोर्डिनेटर विजेन्द्र चौहान सहित अन्य सम्बधिंत विभाग के अधिकारी मौजूद रहें। 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।