बेठक में हरियाणा वक्फ बोर्ड के इमामों द्वारा दिल्ली की तर्ज पर वेतन की मांग
December 12th, 2019 | Post by :- | 152 Views
बेठक में हरियाणा वक्फ बोर्ड के इमामों द्वारा दिल्ली की तर्ज पर वेतन की मांग

मेवात(सद्दाम हुसैन) प्रदेश में हरियाणा वक्फ बोर्ड के इमामों को 7460 से 10500 रुपये तक मासिक वेतन दिया जा रहा है मासिक वेतन बढ़ाने के लिए केंद्रीय वक्फ परिषद से जल्द मुलाकात करेगा इमाम संगठन।

इस हवाले से दक्षिण हरियाणा जोन के जिला झज्जर, पलवल, फरीदाबाद, रेवाड़ी, गुरुग्राम, नारनौल वे इलाका ए मेवात के इमामों की एक आपात बेठक ऐतिहासिक ईद गाह मालब में सगंठन आईम्मा ओकाफ हरियाणा ने बुलाई जिस में वक्फ बोर्ड की मासिक वेतन मे विर्धी समेत विभिन्न समस्याओं को लेकर बैठक में चर्चा हुई इस से पहले पानीपत पत और यमना नगर में इसी मामले पर बेठक हो चूकी हैं

नूंह मेवात हरियाणा प्रदेश के वक्फ बोर्ड में कार्यरत इमामों ने दिल्ली की तर्ज पर वेतन बढ़ाने की हुंकार नूंह (मेवात) के गांव मालब से भरी। इस बैठक में झज्जर, पलवल, फरीदाबाद, रेवाड़ी, गुरुग्राम, नारनौल और नूंह जिले के सेंकड़ों इमाम शामिल हुए।इस मामले में जल्दी ही इमामों का एक प्रतिनिधिमंडल केंद्रीय वक्फ परिषद से दिल्ली में मुलाकात करेगा। वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री से भी बातचीत करने का वक्त मांगा है। इस मोके पर कारी मोहम्मद इरफान ने कुरान की तिलावत से बैठक की शुरुआत की । आयोजित बैठक की अध्यक्षता हाफिज इलियास ने की इस मोके पर मोलाना असरुदीन ने बताया कि प्रदेश में 428 इमाम मस्जिदों में नमाज पढ़ा रहे हैं। फिलहाल हरियाणा वक्फ बोर्ड की तरफ से 7460 रुपए से 10500 रुपए मिलते हैं जबकि 3 इमाम को 11500 रुपए वेतन दिया जा रहा हैं।

संबोधन में मौलाना ताहिर, मौलाना सलीम पानीपती, मौलाना मुबारक ने बताया कि दिल्ली में लगे हुए इमामों को दिल्ली वक्फ बोर्ड 16000 रुपए से 18000 रुपए तक का वेतन दे रहा है। हरियाणा में 39 केयर टेकर के अलावा 389 इमाम काम कर रहे हैं कुल संख्या 428 है। मौलाना मोहम्मद ताल्हा, हाफिज मोहम्मद आजाद हाफिज हनीफ गोरवाल बताते है कि मुख्यमंत्री से जल्द मुलाकात का कार्यक्रम तय होना है। इसके बाद केंद्रीय वक्फ परिषद से राज्य के 22 जिलों के इमाम मुलाकात करेंगे और अपनी बात कर रखेंगे। सैकड़ों की तादाद में मौजूद इमाम का कहना है कि हरियाणा कि वक्फ बोर्ड संपत्तियों के रखरखाव को लेकर चिंता बनी हुई है लिहाजा सरकार सभी वक्फ बोर्ड की संपत्तियों का सही प्रकार से संरक्षण करें। सभी ने एक स्वर में दिल्ली की तर्ज पर हरियाणा के इमामों को वेतन देने की मांग रखी। जरूरत पड़ी तो आंदोलन भी होगा। बता दें कि हरियाणा प्रदेश वक्फ बोर्ड की संपत्तियों से आने वाले किराए से ही इमामों का वेतन दिया जाता है।

प्रदेश में 23 हजार वक्फ संपत्तियां हैं किराए पर हरियाणा वक्फ बोर्ड की प्रदेश में 12505 वक्फ संपत्तियां हैं, जिनमें से 8190 वक्फ इकाई ग्रामीण क्षेत्र तथा 4315 शहरी क्षेत्र में हैं। ग्रामीण क्षेत्र में आने वाली वक्फ संपत्तियों का कुल क्षेत्रफल 129269 कनाल 03 मरला 20 गज है। शहरी क्षेत्र में आने वाली वक्फ संपत्तियों का कुल क्षेत्रफल 166753 कनाल 00 मरला 15 गज है। सभी संपत्तियों का कुल क्षेत्रफल 20919.3 एकड़ है। राज्य में 23000 वक्फ संपत्तियों को किराए पर दिया गया है। इनमें 25 प्रतिशत संपत्तियां कॉमर्शियल हैं और 60 फीसदी आवासीय उद्देश्य के लिए किराए पर दी गई हैं जबकि 15 फीसदी वक्फ भूमि कृषि के लिए दी गई है। इनसे करीब 16 करोड़ की आमदमनी 2016-17 में बोर्ड को हुई। 2017-18 में आमदमनी का आंकड़ा जून में पता चलेगा। इससे ही वक्फ कर्मियों व अधिकारियों की तनख्वाह और अन्य खर्चें चलते हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।