हरियाणा के 55 युवकों की रिहाई के लिए मुख्यमंत्री से मिला वकीलों का प्रतिनिधिमंडल, चार यमुनानगर से
August 26th, 2019 | Post by :- | 99 Views

यमुनानगर, लोकहित एक्सप्रेस(सुरेश अंसल)। दिल्ली स्थित
तुगलकाबाद के ऐतिहासिक श्री गुरु रविदास मंदिर तोडऩे के विरोध में 21 अगस्त को शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे लोगों को गिरफ्तार करने के मामले में आज हरियाणा के विभिन्न स्थानों के वकीलों का प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री मनोहर लाल से दिल्ली हरियाणा भवन में मिला। इनमे यमुनानगर के एडवोकेट संदीप भोरिया, शाहबाद से एडवोकेट वीरेन्द्र और बराड़ा से एडवोकेट धर्मबीन ने मुख्यमंत्री को मांग पत्र सौंपा कि दिल्ली में गुरु रविदास जी का जो ऐतिहासिक मंदिर गिराया है वह सरासर गलत है। इसके विरोध में 21 अगस्त को दिल्ली में सर्वसमाज ने शांति पूर्वक प्रदर्शन किया। लेकिन पुलिस ने शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे 96 युवाओं को जबरन गिरफ्तार किया और उन पर मनमर्जी से धाराएं लगाकर उन्हें फंसाने का काम किया। एफआईआर नंबर 280 दर्ज कर युवाओं को जेल भेजकर लोकतंत्र की हत्या की है। इनमें 55 युवा हरियाणा के हैं । इसमे चार युवक यमुनानगर के रहने वाले हैं। उन्होंने कहा कि वह इन युवाओं को रिहा कराने के लिए संघर्षरत हैं। उक्त वकीलों ने मुख्यमंत्री से मांग की कि वह मामले में संज्ञान लेते हुए युवाओं पर दर्ज मामले को खारिज करवाकर उन्हें रिहा करवाएं। संत शिरोमणि श्री गुरु रविदास जी का जो मंदिर तोड़ा गया है उसका पुननिर्माण करवाकर उसे संत समाज को समर्पित किया जाए। सीएम से मिलने गए वकीलों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया कि वह इस मामले पर गौर करेंगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।