धुँध में वाहन चलाते समय बरते सावधानी : एसपी विरेंद्र विज
December 12th, 2019 | Post by :- | 112 Views

कैथल(लोकहित विशाल चौधरी) पुलिस द्वारा मौजूदा मौसम की स्थिति को ध्यान में रखते हुए सर्दियों में धुंध व कोहरे के दौरान सडक़ यातायात को सुरक्षित बनाए रखने के लिए यातायात एडवाइजरी जारी की गई है।
पुलिस अधीक्षक विरेंद्र विज ने जानकारी देते हुए बताया कि सर्दी कोहरे के मौसम में एहतियात उपायों से आप स्वयं ही नहीं बल्कि दूसरे को भी सुरक्षित रखेंगे। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में कोहरे व धुंध के चलते सडक़ों पर विजिब्लिटी कम रहेगी। ऐसे में सडक़ों पर वाहन का प्रयोग करते समय अधिक सावधानी बरतनी होगी। उन्होनें सुरक्षित ड्राइविंग संबंधी टिप्स जारी करते हुए वाहन चालकों को सलाह दी कि अपने गंतव्य स्थान के लिए चलने से पुर्व यात्री मौसम के पूर्वानुमान की जांच उपरांत ही यात्रा पर निकलें। अधिक कोहरे की चेतावनी पर यात्रा को यथा संभव मौसम साफ होने तक टालने का प्रयास करें। शादियों के मौसम कारण देर रात के समय वाहनों पर मुवमैंट टालने का प्रयास करें, तथा कोई भी नशा करके वाहन किसी सुरत में ना चलाएं।
स्पीड का खास ध्यान रखकर धीमी गति से वाहन चलाने की सलाह देने की सलाह देते हुए उन्होंने कहा वाहन मालिक यह भी सुनिश्चित करें कि वाहनों की हेड लाइट, टेल लाइट, फॉग लाइट सहित इंडिकेटर, ब्रेक, टायर, विंडस्क्रीन वाइपर, बैटरी व कार हीटिंग सिस्टम सही तरीके से काम कर रहे हैं। धुँध के दौरान यात्रा करते समय वाहन चालक लो-बीम हेड लाइट का इस्तेमाल करें क्योंकि धुंध के दौरान हाई-बीम हेड लाईट कारगर नही होती है। इंडिकेटरस को भी ऑन रखें ताकि दूसरे वाहन को भी आपके व्हीकल का पता चल सके। यदि कोहरे के कारण विजिब्लिटी न्यून हो जाती है तो ऐसी स्थिति में फॉग लाइट को उपयोग अवश्य करें। वाहन चालको से वाहनों के बीच उचित दूरी बनाए रखने का अनुरोध करते हुए, पुलिस अधीक्षक महोदय ने कहा कि विजिब्लिटी बेहद खराब होने की स्थिति में वाहन चालक सडक़ पर पेंट की गई लाइन को गाइड के रूप में उपयोग करते हुए वाहन चलाएं। ड्राइव करते समय जरूरी है कि आपका पूरा ध्यान सडक़ पर हो। धुंध के दौरान गाडियों की गति सीमा नियंत्रित रखने व मोबाइल फोन तथा म्यूजिक सिस्टम का उपयोग करने से बचे। किसी वजह कारण डबल रोड बंद होने की स्थिती दौरान अगर वाहन एक साईड से ही आवागमन कर रहे हों, तो ऐसी स्थिती में चालक को दुर्घटना टालने के लिए अति सजगता का परिचय देना चाहिए।
इसके अतिरिक्त, बाहर की आवाज का ध्यान रखने के लिए वाहनों के शीशे थोड़ा नीचे रखें ताकि जो दिखाइे न दे सके उसे सुनकर यात्रा को पूर्ण रूप से सुरक्षित बनाया जा सके। इमरजेंसी स्टॉप होने पर, जहां तक संभव हो सडक़ से नीचे वाहन को उतारने की सलाह दी गई है। ओवरटेकिंग नही करने के अतिरिक्त, लेन बदलने, फ्री-वे और व्यस्त सडक़ों पर वाहन रोकने से बचने के लिए भी कहा गया है। पुलिस अधीक्षक ने वाहन चालको को सलाह दी कि कोहरे के समय दिन में यात्रा को प्राथमिकता दें तथा यातायात नियमों का पालन सुनिश्चित करें। प्रत्येक नागरीक का जीवन उनके परिवार और समाज के लिए समय व धन से ज्यादा मूल्यवान है, जिसे समुचित यातायात नियमों की पालना करके असमय मौत के मुंह में जाने से बचाया जा सकता है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।