हरियाणवी संस्कृति को वैश्विक स्तर पर उठाने में कामयाब रहा विरासत हैरिटेज: मेजर अभिमन्यु
December 11th, 2019 | Post by :- | 191 Views

कुरुक्षेत्र, ( सुरेश पाल सिंहमार )    ।   अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव के दौरान पुरषोतमपुरा बाग में बने अंन्तर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव-2019 ‘विरासत’ हेरिटेज विलेज से हरियाणवी संस्कृति को विशेष पहचान मिली है। ये उद्गार राजस्थान के राज्यपाल के पुर्व परिसहाय मेजर अभिमन्यु ने प्रकट किए। उन्होने अपनी पत्नी इशा सिंह (आईएस) मुख्य विकास अधिकारी,मेरठ के साथ गत रविवार को ‘विरासत’ हेरिटेज विलेज में अपनी गरिमामय उपस्थिति दी।

गौरतलब है कि मेजर अभिमन्यु कुरुक्षेत्र के रहने वाले हैं व कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के पूर्व रजिस्ट्रार डाक्टर हवा सिंह के सुपुत्र हैं। उनकी पत्नी ईशा सिंह, आईएएस भी हरियाणा से ही हैं और यूपी के मेरठ में सेवारत्त हैं। उन्होने विरासत के अवलोकन के उपरांत उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि इस प्रयास ने हरियाणवी संस्कृति को वैश्विक स्तर पर उठाने का प्रयास किया गया है जोकि बहुत ही सराहनीय काम है। इसके लिए उन्होने आयोजकों के साथ कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड और डाक्टर महासिंह को बधाई देते हुए कहा कि हमारे युवाओं को अपनी संस्कृति से जुड़ना चाहिए।

इस अवसर पर विरासत हेरिटेज विलेज के संयोजक डाक्टर महासिंह पूनीय ने स्मृतिचिन्ह देकर उनको सम्मानित किया। मेजर अभिमन्यु व ईशा सिंह ने कहा कि अपनों के बीच में इस प्रकार सम्मान पाकर बहुत ही खुशी होती है। इस अवसर पर डाक्टर महासिंह पूनीय, प्रो. सुदेश छिक्कारा, डाक्टर आबिद अली, पवन सोंटी, तेजस्विनी, विनय चौधरी, हरिओम द्विवेदी आदि गणमान्य व्यक्तियों सहित अनेकों दर्शक भी उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।