हिमाचल के ठाकुरद्वारा एरिया से रेत बजरी से भरकर जा रहे ट्रैक्टरों को पंजाब के बुडाबढ़ के सत्संग घर के सामने लगे पंजाब पुलिस के नाके बाले नही करने दे रहे है पंजाब एरिया में प्रवेश , ट्रैक्टर मालिको ने मौजूदा पंजाब सरकार के खिलाफ इस कार्य को लेकर जताया रोष
December 7th, 2019 | Post by :- | 154 Views

गगन ललगोत्रा (व्यूरो कांगड़ा)

पंजाब हिमाचल सीमा किनारे जिला कांगड़ा तहसील इन्दौरा के गाँव ठाकुरद्वारा ओर इसके इर्द गिर्द क्रेशरो से पंजाब के रेट की तुलना हिमाचल में पंजाब से सस्ता और साफ सुथरा रेत बजरी ले जाकर पंजाब के लोग अपने घरों को बनाने जे लिए प्रयोग कर रहे है ओर पंजाव के अधिकतर लोग यह मटीरियल खरीद करने के लिए हिमाचल की ओर रुख करते है। परंतु पंजाब सरकार की देख रेख में पंजाव पुलिस सड़को का बहाना बनाकर बिधायक की अंगुली पर नाचते हुए पंजाब की जनता को गुमराह कर रहे है।ओर नजायज नाके लगाकर लोगो के घरों का विकास रोक रहे है जिसके चलते इसी कारण मजबुरन लोगो को सस्ते मैटेरियल की बजाए महंगा मटेरियल खरीदना पड़ रहा है ओर हिमाचल एरिया में क्रेशर बजरी लेकर पंजाब में आना
सरकार ने अति मुश्किल कर दिया है। ठाकुरद्वारा की सीमा के साथ लगते पंजाब के गाँव बुडाबढ़ नजदीक सत्संग घर और टांडा मोड़ पंजाब एरिया में दिन रात लिंक रोड पर पुलिस ने 24 घण्टे अपना नाका लगा रखा है जोकी हिमाचल एरिया से अपने छोटे ट्रकों ओर ट्रैक्टर ट्रालियों में अपने घरो जा दूसरे लोगो के लिए रेत बजरी भरकर इन रास्तो से पंजाब में प्रबेश करते है तो इस सड़को पर लगे नाको पर तैनात पुलिस उन्हें बापिस फिर हिमाचल को मोड़ देती है और मात्र एक किलोमीटर घर के सफर को मजबूरन 5 से 10 किलोमीटर अतरिक्त होकर जाना पड़ता है ।

पंजाब के कुछ गणमान्य व्यक्तियों का कहना है के अगर इस महंगाई के दौर में अगर पंजाब का कोई भी निबासी अपना घर बड़ी मुश्किल से बनाने जा रहा है तो पंजाब सरकार एवम पुलिस प्रसाशन उसे राहत देने के बाबजूद उसके बिकास करने के लिये रुकावट क्यो डाल रहा है इसी समस्या को मध्यनजर रखते हुए जब विधानसभा क्षेत्र मुकेरिया की बिधायक इंदु बाला से फोन पर संपर्क किया तो उन्होंने कहा की पंजाब सरकार सड़को का निर्माण करबाने के लिए बचनबद्ध है लेकिन लिंक सड़को पर बड़ी ओवरलोड गाड़ियों को छोड़कर बाकी सभी छोटी गाड़ियों को रास्तो से गुजरने के लिए पूर्ण अनुमति है ।

फोटो,, ठाकुरद्वारा में लगे एक डम्प से अपनी ट्रैक्टर ट्राली में रेत बजरी भरकर पंजाब को ले जाते समय आने बाली समस्या को पत्रकारो को व्यान करता एक ट्रैक्टर चालक

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।